जहांगीरपुरी हिंसा में की जा रही उपद्रवियों की पहचान, चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात

जहांगीरपुरी हिंसा में की जा रही उपद्रवियों की पहचान, चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात
  • whatsapp
  • Telegram
  • koo

नयी दिल्ली। उत्तर -पश्चिम दिल्ली के जहांगीरपुरी में हनुमान जयंती पर हुई हिंसा के मामले में पुलिस दल पर गोलीबारी के आरोपी समेत 20 लोग रविवार को गिरफ्तार कर लिए गए जबकि अन्य की पहचान की जा रही है।


दिल्ली पुलिस का कहना है कि हिंसा मामले में दर्ज प्राथमिकी के आधार पर जांच की जा रही है। शुरुआती जांच के बाद 20 आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं, जबकि अन्य उपद्रवियों की पहचान की जा रही है।


पुलिस का दावा है कि गोलीबारी करने के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। तलाशी के दौरान उसके पास से हिंसा में इस्तेमाल की गई एक पिस्तौल बरामद की गई है।


गिरफ्तार आरोपियों 14 लोगों को रोहिणी अदालत में पेश किया गया, जहां 12 न्यायिक तथा दो पुलिस हिरासत भेज दिए गए।


पुलिस का कहना है कि कड़ी सुरक्षा निगरानी के बीच इलाके में स्थिति नियंत्रण में है। स्थानीय पुलिस कर्मियों के अलावा केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।


पुलिस के कई आला अधिकारी दोनों समुदायों के लोगों के साथ बैठ कर स्थिति को सामान्य बनाने की कोशिश में जुटे हुए हैं।


स्थानीय पुलिस निरीक्षक राजीव रंजन की ओर से दर्ज प्राथमिकी में आठ पुलिसकर्मियों समेत नौ लोगों के घायल होने का उल्लेख किया गया है। घायलों में उप निरीक्षक मेदालाल शामिल है। उनके बायें हाथ में गोली लगी है। प्रारंभिक इलाज के बाद वह अपने घर लौट गए। घायलों का इलाज जहांगीरपुरी के बाबू जगजीवन राम मेमोरियल अस्पताल में किया जा रहा है।


प्राथमिकी के मुताबिक, आरोपियों में अख्तर अंसार एवं अन्य शामिल हैं। प्राथमिकी में घटनास्थल पर एक स्कूटी को जलाने समेत चार- पांच गाड़ियों में तोड़फोड़ करने का जिक्र किया गया है। इसके अलावा उपद्रवियों को काबू में करने के लिए 40-50 राउंड आंसू गैस के गोले छोड़े जाने की जानकारी दी गई है।


प्राथमिकी के मुताबिक, शनिवार शाम जहांगीरपुरी ईई ब्लॉक से शोभा यात्रा की शुरुआत हुई थी। शोभा यात्रा के बीसी मार्केट होते हुए सी ब्लॉक पहुंची तो एक मस्जिद के पास अख्तर अंसार एवं अन्य चार पांच युवकों के साथ शोभायात्रा में चल रहे लोगों के बीच कहासुनी हो गई। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें समझा-बुझाकर शांत कर दिया लेकिन थोड़ी देर के बाद दोनों ओर अचानक पत्थरबाजी शुरू हो गई, जिसमें पुलिसकर्मी समेत अन्य लोग घायल हो गए।


  • whatsapp
  • Telegram
  • koo
epmty
epmty
Top