बंदरों की उछलकूद से भरभराकर गिरी दीवार, कार बनी डब्बा

बंदरों की उछलकूद से भरभराकर गिरी दीवार, कार बनी डब्बा

इटावा। बंदरों द्वारा इधर से उधर दौड़ भाग करते हुए मचाई जा रही उछलकूद से हिली मकान की दीवार भरभराकर धड़ाम से नीचे आ गिरी। दीवार का मलबा गिरने से साइड में खड़ी कार देखते ही देखते डब्बा बन गई। इस हादसे में कार की सफाई कर रहा मालिक किसी तरह से बाल-बाल बच गया।

बुधवार को जनपद के भरथना के मोहल्ला मोतीगंज पूर्वी निवासी अमित तिवारी पुत्र संतोष कुमार तिवारी की कार उनके घर के बाहर खड़ी हुई थी। कार की जिस समय अमित तिवारी साफ सफाई कर रहे थे, उसी दौरान मौके पर पहुंचे बंदरों के झुंड ने इधर से उधर भाग दौड़ करते हुए उछल कूद मचानी शुरू कर दी। बंदरों की उछलकूद से पड़ोस में निर्माणाधीन दो मंजिला मकान की दीवार जोर से हिली जिससे वह भरभराकर नीचे आ गिरी।

दीवार का कुछ हिस्सा अमित तिवारी के मकान की खिड़की के छज्जे पर गिरा जिससे छज्जे के नीचे खड़ी कार की छत दीवार का मलबा गिरने से बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। उधर कार की साफ सफाई कर रहा अमित तिवारी भी दीवार के मलबे की चपेट में आने से बाल-बाल बच गया।

समूची गली में ईटों का मलबा चौतरफा बिखर गया है। गनीमत इस बात की रही जिस समय दीवार गिरने की यह घटना हुई उस वक्त आस पास कोई अन्य व्यक्ति मौजूद नहीं था।

Top