शादी समारोह से लौट रहे छात्र पर बंदरों का हमला, चली गई जान

शादी समारोह से लौट रहे छात्र पर बंदरों का हमला, चली गई जान

हापुड़। शादी समारोह में शामिल होने के बाद स्कूटी पर सवार होकर वापस घर लौट रहे छात्र पर बंदरों के झुंड ने बुरी तरह से हमला बोल दिया। बचाव की मुद्रा में आए छात्र का बैलेंस बिगड़ गया, जिसके वह स्कूटी समेत सड़क पर जा गिरा। छात्र का सिर ईंट पर लग जाने से वह बुरी तरह से लहूलुहान हो गया। घायल अवस्था में अस्पताल ले जाएंगे छात्र को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। घर के इकलौते चिराग की असमय मौत हो जाने से परिवारजनों में बुरी तरह से कोहराम मचा हुआ है। बंदरों के हमले में छात्र की जान चली जाने से लोग नगर पालिका परिषद को रह-रहकर बुरी तरह से कोस रहे हैं।

जनपद हापुड़ के पिलखुवा के जवाहर बाजार निवासी अशोक प्रजापति का इकलौता बेटा 20 वर्षीय बी फार्मा का छात्र बुधवार की देर शाम हाईवे स्थित एक मैरिज होम में आयोजित शादी समारोह में शामिल होने के लिए गया था। देर रात तकरीबन 2.00 बजे जब कुणाल स्कूटी पर सवार होकर वापस अपने घर लौट रहा था तो गांधी रोड स्थित लाला गंगा सहाय की धर्मशाला के निकट डेरा जमाए बैठे बंदरों के झुंड ने छात्र के ऊपर हमला बोल दिया। अचानक से हुए बंदरों के हमले से बचाव की मुद्रा में आए कुणाल की स्कूटी का इस दौरान बैलेंस बिगड़ गया, जिससे वह स्कूटी के साथ काफी दूर तक सड़क पर घिसटता चला गया।

इस दौरान कुणाल का सिर सड़क पर पड़ी ईंट में जाकर लगा जिससे वह बुरी तरह से लहूलुहान हो गया। किसी तरह से घायल हुए छात्र ने खुद के घायल होने की सूचना अपने परिवार के लोगों तक पहुंच भेजी। मामले की जानकारी मिलते ही परिवार के लोग रात में ही भाग दौड़ करते हुए मौके पर पहुंचे और घायल हुए छात्र को उठाकर अस्पताल ले गए। लेकिन रास्ते में ही कुणाल की मौत हो चुकी थी और चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

इकलौते बेटे की असमय मौत हो जाने से परिवारजनों में बुरी तरह से कोहराम मच गया है। मोहल्ले और पड़ोस के लोग पीड़ित पिता और परिवार को सांत्वना देते हुए उन्हें ढांढस बंधाने के प्रयास कर रहे हैं लेकिन बेटे के चले जाने के गम में परिवार जनों की आंखें लगातार नम हो रही है।

Top