गिनीज बुक में फिर दर्ज हुयी अयोध्या, सर्वाधिक दीये जलने का अपना ही रिकार्ड तोड़ा

गिनीज बुक में फिर दर्ज हुयी अयोध्या, सर्वाधिक दीये जलने का अपना ही रिकार्ड तोड़ा

अयोध्या। उत्तर प्रदेश में रामनगरी अयोध्या ने दीपावली की पूर्व संध्या पर रविवार को एक बार फिर एक ही स्थान पर एक साथ सर्वाधिक दीये जलाने का कीर्तिमान गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित अन्य विशिष्ट जनों की माैजूदगी में आज शाम अयोध्या में सरयू नदी के तट पर एक साथ 16 लाख दीपक जलाने के लक्ष्य को प्राप्त करने का उपक्रम प्रारंभ किया। सायं सात बजे छठे दीपोत्सव का प्रधानमंत्री मोदी द्वारा आगाज किये जाने के बाद गिनीज बुक की टीम ने घोषित किया कि इस साल अयोध्या में दीपोत्सव पर 15 लाख 76 हजार दीप जलाये गये।

यह अपने आप में एक कीर्तिमान है। अयोध्या ने अपने ही पुराने कीर्तिमान को तोड़कर यह रिकॉर्ड कायम किया है। इससे पहले पिछले साल अयोध्या में पांचवें दीपोत्सव पर 11 लाख से अधिक दीये जलाने का रिकाॅर्ड बना था। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की तरफ सेे मुख्यमंत्री योगी को इस कीर्तिमान का प्रमाणपत्र भी सौंपा गया।

गौरतलब है कि पहली बार 2017 में अायोजित दीपोत्सव में 1.71 लाख दीप जले थे। हर वर्ष इनकी बढ़ती गई। साल 2018 में 3.01 लाख, 2019 में 4.04 लाख, 2020 में 6.06 लाख एवं 2021 में 9.41 लाख दीप प्रज्ज्वलित किये गए थे, जिनकी संख्या बाद में बढ़कर 11 लाख से अधिक हो गयी। इस बार दीपोत्सव 2022 में 15.76 लाख दीपों का रिकॉर्ड बना।

इस उपलब्धि के लिये प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्री योगी को शुभकामनाएं दी। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के प्रतिनिधियों ने उत्तर प्रदेश सरकार के 'भव्य दीपोत्सव' को देखा, परखा और अंततः एक साथ एक स्थान पर इतनी बड़ी संख्या में दीप प्रज्ज्वलन को नवीन विश्व कीर्तिमान का दर्जा दिया। कीर्तिमान रचने में अयोध्या स्थित अवध विश्वविद्यालय के शिक्षकों व छात्रों की बड़ी भूमिका रही।

राम की पैड़ी पर दीप प्रज्ज्वलन का नियत समय शुरू होते ही वहां मौजूद भारी हुजूम ने 'श्री राम जय राम जय जय राम' के जाप के साथ ,एक-एक कर 15.76 लाख दीप जलाये। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के प्रतिनिधियों द्वारा कीर्तिमान रचने की घोषणा के साथ ही पूरी अयोध्या 'जय श्री राम' के उद्घोष से गुंजायमान हो उठी। मंच संचालक ने जैसे ही यह जानकारी दी, समूची अयोध्या एक बार फिर 'जय सिया राम' के गगनभेदी नारों से गूंज उठी। इससे पहले विगत वर्ष भी इसी स्थान पर दीप प्रज्ज्वजन का कीर्तिमान रचा गया था।

मुख्यमंत्री योगी ने गििनीज बुक के प्रमाणपत्र को मंच पर अपने हाथों से उठाकर समूची अयोध्या का अभिवादन किया। दूसरे कार्यकाल के पहले दीपोत्सव में पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी भी इसके साक्षी बने। उन्होंने इस अविस्मरणीय, अद्भुत उपलब्धि पर मुख्यमंत्री योगी को शुभकामनाएं दीं। सं निर्मल

वार्ता

epmty
epmty
Top