अग्निपथ हिंसा-वसूली प्रक्रिया आरंभ,उपद्रवियों से वसूले जाएंगे 40 लाख

अग्निपथ हिंसा-वसूली प्रक्रिया आरंभ,उपद्रवियों से वसूले जाएंगे 40 लाख

जौनपुर। देश की तीनों सेनाओं में युवाओं की नौकरी के लिए लाई गई अग्निपथ योजना के विरोध में 18 जून को जमकर बवाल काटते हुए सरकारी संपत्ति की तोड़फोड़ और आगजनी करने वाले उपद्रवियों को चिन्हित कर पुलिस द्वारा उनसे वसूली किए जाने की कार्यवाही आरंभ कर दी गई है। जिससे जरा सी बात को लेकर सड़क पर बवाल काटने वालों में अब हड़कंप मच गया है।

बृहस्पतिवार को मिल रही जानकारी के मुताबिक जौनपुर की थाना सिकरारा पुलिस द्वारा इसी महीने की 18 जून को अग्निपथ योजना के विरोध में लाला बाजार में युवाओं द्वारा हंगामा करते हुए की तोड़फोड़ के मामले में आरोपियों को चिन्हित कर उनसे वसूली की प्रक्रिया आरंभ कर दी गई है। पुलिस उपद्रवियों को चिन्हित करते हुए उनकी संपत्ति को दर्ज करने की कार्रवाई कर रही है।

प्रशासन की ओर से उपद्रवियों द्वारा उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की सरकारी बस और उत्तर प्रदेश पुलिस विभाग के सरकारी वाहन में की गई तोड़फोड़ और आगजनी के सिलसिले में तकरीबन 40 लाख रुपए के नुकसान का आकलन किया गया है। हिंसा की इस घटना के संबंध में थाना सिकरारा पर 6 मुकदमे दर्ज किए गए हैं। जिनमें 79 नामजद एवं 250 अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किए हैं। घटना में शामिल 32 आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस अभी तक जेल भेज चुकी है शेष बचे नामजद एवं अज्ञात अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस द्वारा अब एनबीडब्ल्यू वारंट जारी कराया जा रहा है।

उधर थाना बादलपुर में भी अग्निपथ योजना के विरोध में उपद्रवियों द्वारा सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया था। इस मामले में भी तीन मुकदमे दर्ज हैं। जिनमें 36 को नामजद करते हुए 150 अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

Top