डिप्टी CM की अधीक्षकों को नसीहत- रोगी अस्पतालों से निराशा होकर न जाये

डिप्टी CM की अधीक्षकों को नसीहत- रोगी अस्पतालों से निराशा होकर न जाये

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने आज जिला अस्पतालों के प्रबन्धनतंत्र को प्राथमिकता प्रदान करने हेतु चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के राज्य स्तरीय प्रशिक्षण केन्द्र राज्य स्वास्थ्य परिवार कल्याण संस्थान, उ०प्र०, इन्दिरानगर, लखनऊ में मुख्य चिकित्सा अधीक्षकों का क्षमता संवर्धन के लिए 05 दिवसीय अभिमुखीकरण प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ किया। शुभारंभ कार्यक्रम के दौरान उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधीक्षकों हेतु संस्थान के संकाय अधिकारियों द्वारा निर्मित हैंडबुक का अनावरण भी किया।

उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने अपने उद्बोधन में प्रशिक्षण में प्रतिभाग कर रहे मुख्य चिकित्सा अधीक्षकों को जिला अस्पतालों का सिस्टम मजबूत करने तथा जनसामान्य तक बेहतर चिकित्सा सेवायें उपलब्ध कराने का सन्देश दिया। उन्होंने चिकित्सा अधीक्षकों को अस्पतालों की साफ-सफाई को बेहतर बनाने के लिए हर समय मुस्तैद रहने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि चिकित्सालयों में माइनर ओ०टी० को हमेशा क्रियाशील रखा जाए और उसमे साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए। इसके साथ ही उन्होंने बजट प्रबन्धन की सही जानकारी के साथ चिकित्सालयों में विद्युत व्यवस्था बाधित होने पर उत्पन्न होने वाले कठिनाई को दूर करने के लिए पर्याप्त ईधन की व्यवस्था सुनिश्चित किये जाने निर्देश दिए। उन्होने कहा कि कोई भी रोगी अस्पतालों से निराशा होकर न जाये।

इस दौरान प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य पार्थ सारथी सेन शर्मा, एन०एच०एम० मिशन निदेशक अपर्णा उपाध्याय,महानिदेशक डा0 लिली सिंह,महानिदेशक परिवार कल्याण, डा० रेनु श्रीवास्तव वर्मा तथा निदेशक (प्रशासन) एवं निदेशक संस्थान डा० राजागणपति आर0 तथा अन्य उपस्थित थे।

epmty
epmty
Top