निरीक्षण में कैंडी क्रश खेलते पकड़े टीचर को डीएम ने किया सस्पेंड

निरीक्षण में कैंडी क्रश खेलते पकड़े टीचर को डीएम ने किया सस्पेंड

संभल। निरीक्षण करने के लिए स्कूल में पहुंचे जिलाधिकारी को टीचर मोबाइल पर कैंडी क्रश खेलते हुए मिले। टीचर के मोबाइल की जब जांच की गई तो जिलाधिकारी हैरान रह गए। क्योंकि अध्यापक 3 घंटे से बच्चों को पढ़ाने के बजाय मोबाइल में तल्लीनता के साथ व्यस्त थे। जिलाधिकारी ने बच्चों के भविष्य के प्रति बेपरवाह टीचर को तुरंत सस्पेंड करने के आदेश जारी किए।

दरअसल जिलाधिकारी डॉक्टर राजेंद्र पेंसिया बुधवार को गांव शरीफपुर स्थित प्राइमरी स्कूल का निरीक्षण करने के लिए पहुंचे थे। जिलाधिकारी को विद्यालय में आया हुआ देखकर स्कूल में तैनात पांच सहायक टीचरों एवं दो महिला शिक्षामित्रों में अफरा तफरी मच गई। निरीक्षण करने के लिए पहुंचे जिला अधिकारी ने एक-एक करके अध्यापकों से पूछताछ की और स्कूल के रसोई घर से लेकर क्लासरूम तथा रजिस्टर निरीक्षण करने के बाद प्रधानाचार्य के रजिस्टर को चेक किया और बच्चों से बातचीत की।

जिलाधिकारी ने जब शिक्षक को द्वारा जांची गई बच्चों की कापियों की जांच की तो उसमें 10 से ज्यादा गलतियां मिली। एक छात्र की कॉपी में तो एक पेज पर तकरीबन 30 गलतियां थी। जिलाधिकारी ने टीचरों की इस लापरवाही को लेकर अध्यापकों को लताड़ लगाई और अपने काम में सुधार लाने को कहा। जिलाधिकारी ने जब सहायक टीचर प्रियम गोयल से डिजिटल अटेंडेंस दिखाने के लिए कहा तो अध्यापक महोदय आनाकानी करने लगे। जिलाधिकारी ने मामला संदिग्ध जानकारी जब टीचर का मोबाइल उसके हाथ से लेकर चेक किया तो उस समय अध्यापक कैंडी क्रश सागा गेम खेल रहे थे।

जिलाधिकारी ने जब गंभीरता के साथ टीचर के मोबाइल की जांच कराई तो अध्यापक 3 घंटे से बच्चों को पढाने की बजाय मोबाइल में ही व्यस्त थे। जिलाधिकारी ने इसकी जानकारी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अलका शर्मा को देते हुए टीचर को सस्पेंड करने का आदेश दिया। डीएम ने बताया है कि विद्यालय में दो महिला टीचरों का ही काम बेहतर मिला है जो बच्चों को अच्छे से पढ़ रही थी।

epmty
epmty
Top