पुलिस से पीटे MLA सूरत से भागकर पहुंचे नागपुर-बोले मै हूं शिवसैनिक

पुलिस से पीटे MLA सूरत से भागकर पहुंचे नागपुर-बोले मै हूं शिवसैनिक

नागपुर। महाराष्ट्र में उद्धव सरकार को लेकर मचे सियासी घमासान के बीच एकनाथ शिंदे के साथ गुजरात पहुंचे विधायकों में शामिल एक एमएलए तमाम चौकसी को गच्चा देकर सूरत से भागने में सफल हो गए हैं। पुलिस द्वारा की गई पिटाई के बाद भी सूरत से भागकर नागपुर पहुंचे एमएलए ने कहा है कि मुझे अस्पताल ले जाने के बाद 20-25 लोगों ने जबरिया इंजेक्शन लगाया। मैं उद्धव ठाकरे का शिवसैनिक और हमेशा शिवसेना में ही रहूंगा।

बुधवार को अचानक से हुए एक बडे घटनाक्रम के अंतर्गत महाराष्ट्र में मचे सियासी घमासान के बीच बगावत करके एकनाथ शिंदे की अगुवाई में सूरत गए एमएलए में शामिल शिवसेना एमएलए नितिन देशमुख तमाम चौकसी को धता बताते हुए नागपुर पहुंच गए हैं। सूरत से भागकर नागपुर पहुंचने के बाद एमएलए नितिन देशमुख ने कहा है कि मुझे मुंबई में आने से रोकने के लिए गुजरात पुलिस की सहायता से रोकने की हर संभव कोशिश की गई है। पुलिस की पिटाई से घायल होने बाद मुझे अस्पताल ले जाये जाने पर 20-25 लोगों ने हॉस्पीटल में जबरदस्ती मेरे शरीर में इंजेक्शन लगाया। उस इंजेक्शन में क्या था? यह मुझे पता नहीं है। लेकिन मुझे बेहोश करने की हर संभव कोशिश की गई है जिससे मैं कुछ भी ना समझ पाऊं।

एमएलए नितिन देशमुख ने कहा है कि मैं पहले भी उद्धव ठाकरे का शिवसैनिक था और आज भी हूं तथा आगे भी शिवसेना में ही रहूंगा। उल्लेखनीय है कि एमएलए नितिन देशमुख के सूरत से भागकर नागपुर पहुंचने से पहले सूरत के एक स्थानीय शिवसेना नेता परेश खैर ने मीडिया को बताया था कि शिवसेना के महाराष्ट्र के अकोला से विधायक नितिन देशमुख ली मेरिडियन होटल से निकलकर शहर के एक चौराहे पर पहुंच गए थे। जहां पर उन्होंने शिवसेना की स्थानीय इकाई के लोगों से वापस मुंबई जाने के लिए मदद मांगी।

शिवसेना नेता परेश खेर का दावा है कि एमएलए की मदद की गुहार पर जिस समय तक हम लोग बताएं ्रगये चौराहे पर पहुंचे, उससे पहले ही गुजरात पुलिस मौके पर पहुंचकर बाहर निकलकर मुंबई जाने के लिये आये शिवसेना एमएलए को गुजरात पुलिस पकड़कर वापिस होटल में ले जा रही थी। उन्होंने बताया कि हम लोग भी पुलिस और एमएलए के पीछे पीछे चलते हुए होटल तक पहुंच गए लेकिन वहां पर हमें बाहर ही रोक दिया गया।

Top