उधर चिंतन शिविर-इधर पंजाब में इस बडे नेता ने किया कांग्रेस को गुड बॉय

उधर चिंतन शिविर-इधर पंजाब में इस बडे नेता ने किया कांग्रेस को गुड बॉय

नई दिल्ली। कांग्रेस के राजस्थान के उदयपुर में चल रहे चिंतन शिविर को महज औपचारिकता बताते हुए पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया है। फेसबुक पर लाइव आते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने कहा है कि पार्टी नेतृत्व चौतरफा चापलूसी से घिरा हुआ है। इसकी वजह से कांग्रेस को जगह जगह पर भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। उन्होंने सोनिया गांधी को संबोधित करते हुए कहा है कि वह भले ही पूरे देश में राजनीति करें लेकिन अपनी ओर से पंजाब को बख्श दे।

शनिवार को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ की ओर से पार्टी को छोड़ने का ऐलान कर दिया गया है। राजस्थान के उदयपुर में चल रहे कांग्रेस के चिंतन शिविर के दौरान फेसबुक पर लाइव आते हुए कांग्रेस के पूर्व प्रधान सुनील जाखड़ ने कहा है कि आतंकवाद के दौर में वर्ष 1984 के दौरान जब एके-47 भी पंजाब में धर्म एवं जात पात का भेदभाव नहीं कर सकी थी तो उस जात पात और धर्म को कांग्रेस नेता अंबिका सोनी ने चुनाव के समय प्रदेश भर में खड़ा कर दिया। कांग्रेस नेतृत्व चौतरफा चापलूसों से घिरा हुआ है। सुनील जाखड़ ने कहा है कि आज मुझे उदयपुर में कांग्रेस के चिंतन शिविर में पार्टी की हालत को देखकर तरस आ रहा है। देखने वाली बात यह है कि कितने नेता चीयरलीडर और कितनी कड़वी और सच्ची बात कहने की हिम्मत जुटा सकेंगे?

सुनील जाखड़ ने कहा है कि कांग्रेस का चिंतन शिविर महज एक औपचारिकता से ज्यादा कुछ भी नहीं है। उन्होंने कहा है कि अगर वास्तव में कांग्रेस को हार की चिंता होती तो हाल ही में उत्तर प्रदेश में हुए चुनाव में मिली हार के लिए कांग्रेस कमेटी बनाती और पार्टी की हार का कारण खोजती कि किस वजह से 403 सीटों में से 300 सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवारों को 2000 वोट भी नहीं मिले हैं। जबकि इससे ज्यादा वोट तो पंचायत के उम्मीदवार को ही मिल जाते हैं।

Top