केजरीवाल की चन्नी को एक हजार जीरो बिल दिखाने की चुनौती

केजरीवाल की चन्नी को एक हजार जीरो बिल दिखाने की चुनौती

मोहाली/चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शून्य राशिक दिल्ली के एक लाख बिजली दिखाते हुये पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को महज एक हजार ऐसे बिजली बिल दिखाने की चुनौती दी है।

केजरीवाल ने आज यहां पार्टी के 'पंजाब की जनता के साथ, केजरीवाल की बातचीत' कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को यह चुनौती दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी केवल घोषणाएं करते हैं, उन पर अमल नहीं करते। अपने खोखले प्रचार के लिए चन्नी जगह-जगह पर सरकारी राशि खर्च कर विज्ञापन और बोर्ड तो खूब लगवा रहे हैं लेकिन जमीनी स्तर पर कोई काम नहीं करते। इस कारण आज बेरोजगार अध्यापक, मुलाजिम, किसान, व्यापारी, डॉक्टर, नर्सों समेत हर वर्ग धरने प्रदर्शन पर बैठा है।

इस मौके पर 'आप' पंजाब के प्रदेशाध्यक्ष एवं सांसद भगवंत मान, दिल्ली के विधायक एवं पंजाब मामलों के प्रभारी जरनैल सिंह, विधानसभा में विपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा तथा पार्टी के सभी विधायक और बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

केजरीवाल ने कार्यक्रम के दौरान राज्य के लोगों की समस्याएं सुनीं और उनके साथ अपने विचार सांझा करते हुए कहा कि 'दिल्ली के 50 लाख परिवारों में से 35 लाख परिवारों को बिजली मुफ्त मिलती है। इसका सबूत यह एक लाख बिजली बिल हैं जिनमें जीरो बिल आने की जानकारी अंकित है। अब श्री चन्नी केवल एक हजार मुफ्त बिजली वाले बिल (दलित वर्ग के 200 यूनिट माफी के बिल छोड़कर) लोगों के समक्ष पेश करें, क्योंकि उन्होंने भी राज्य में मुफ्त बिजली बिल देने की घोषणा की है।'

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने दावा किया कि आप ने दिल्ली के लोगों से जो वादे किए थे वे सभी पूरे किए हैं। दिल्ली के स्कूल और शिक्षा व्यवस्था, बिजली मुफ्त और 24 घंटे आपूर्ति, अच्छे अस्पताल और सस्ता इलाज आदि सब सुविधाएं दिल्ली वासियों को मिलती हैं। जबकि पंजाब में कांग्रेस और शिरोमणि अकाली दल(बादल) ने लोगों को सुविधाएं देने के वादे तो बहुत किए थे लेकिन सरकार बनाकर उन्होंने लोगों की सुध तक नहीं ली, बल्कि अपने ही महल बनाए हैं।

उन्होंने राज्य के लोगों को मुफ्त बिजली, 24 घंटे निर्विघ्न बिजली आपूर्ति, 16 हजार क्लीनिक खोलने, महिलाओं को एक हजार रुपये प्रति माह देने, स्कूल और शिक्षा व्यवस्था सुधारने, अच्छे अस्पताल बनाने और भ्रष्टाचार खत्म करने की गारंटियां दी हैं। पंजाब में 'आप' की सरकार बनने पर सभी गारंटियां जरूर पूरी की जाएंगी। उन्होंने पंजाब वासियों से अपील की है कि उन्होंने कांग्रेस और अकालियों की सरकारें बनाई लेकिन इन्होंने पंजाब और पंजाबियों को कथित तौर पर लूटा ही है। इसलिए अब मौका आप को दें ताकि पंजाब में आम लोगों का राज स्थापित किया जा सके।

केजरीवाल ने कहा कि यदि पंजाब में मुफ्त और 24 घंटे बिजली, अच्छे स्कूल, अच्छे अस्पताल, घर-घर रोजगार और पांच-पांच मरले के प्लाट मिल गए हों तो कांग्रेस पार्टी को वोट दे देना। यदि कुछ नहीं मिला और वह चाहते हैं कि दिल्ली जैसी सुविधाएं उन्हें भी मिलें तो एक बार झाड़ू वाला बटन जरूर दबा देना और आप को सरकार बनाने का मौका देना।

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वह पंजाब को सुधारने और संवारने के लिए मेहनत करें। एकजुटता के साथ चुनावों की तैयारी करें, क्योंकि सभी ने मिलकर पंजाब को खुशहाल राज्य बनाना है।

इससे पहले आप प्रदेशाध्यक्ष और सांसद भगवंत मान ने अपने सम्बोधन में कहा कि कांग्रेस ने वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में 129 पृष्ठों का चुनावी घोषणा पत्र जारी कर बहुत वादे किए थे लेकिन सरकार बनने पर इनमें से 29 शब्द भी लागू नहीं किए। भले ही कांग्रेस ने ढाई महीनों के लिए अपना मुख्यमंत्री बदल लिया है लेकिन कांग्रेस से हिसाब किताब पूरे पांच वर्षों का लिया जाएगा। उन्हाेंने मुख्यमंत्री पर आरोप लगाया कि वह अध्यापकों और अन्य सरकारी कर्मचारियों के मामलों का समाधान करने के बजाय उन पर मामले दर्ज कर रहे हैं। लेकिन दिल्ली में ऐसा नहीं होता बल्कि अध्यापकों और कर्मचारियों को सम्मान दिया जाता है।


वार्ता

Top