बोले CM- मुफ्त में योग की क्लासेज कराएगी सरकार

बोले CM- मुफ्त में योग की क्लासेज कराएगी सरकार

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 'दिल्ली की योगशाला' कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार ने योग और मेडिटेशन को जन आंदोलन बनाकर घर-घर तक पहुंचाने के उद्देश्य से इस कार्यक्रम की शुरूआत की है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को यहां एक कार्यक्रम के दौरान 'दिल्ली की योगशाला' कार्यक्रम की शुरूआत की। जनवरी से दिल्ली में जगह-जगह योग की क्लासेज शुरू होंगी। मैं समझता हूं कि पूरे देश में यह अपने किस्म का पहला कार्यक्रम है, जिसके तहत दिल्ली सरकार लोगों को फ्री में योग कराएगी। भागदौड़ की जिंदगी में आज आदमी का शरीर, मन और आत्मा स्वस्थ्य नहीं है, ऐसे में योग उनकी बड़ी मदद कर सकता है। उन्होंने कहा कि 25 लोगों का एक ग्रुप 9013585858 पर मिस्ड कॉल करता है, तो दिल्ली सरकार योग कराने के लिए निःशुल्क शिक्षक देगी। इसके लिए 400 शिक्षकों को प्रशिक्षित किया गया है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने पिछले सात साल में गवर्नेंस के क्षेत्र में कई नए-नए सफल प्रयोग किए और उनकी चर्चा देश और विदेश में हो रही है। हमने शिक्षा के क्षेत्र में खूब सारे प्रयोग किए। हैपीनेस क्लासेज, एंटरप्रिन्योर क्लासेज, देशभक्ति क्लासेज के प्रयोग किए और स्कूल बहुत अच्छे किए। इसी तरह, स्वास्थ्य के क्षेत्र में खूब सारे प्रयोग किए। बिजली के क्षेत्र में भी किए। लोगों को यकीन नहीं होता है कि दिल्ली में 24 घंटे और मुफ्त बिजली आती है। पहली बार ऐसा हो रहा है कि अब तीर्थ यात्रा पर लोग जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार आज एक और नया किस्म का काम करने जा रही है। हमने दिल्ली में अस्पताल और मोहल्ला क्लीनिक खूब बनाए। स्वास्थ्य व्यवस्था ऐसी की है कि अगर दिल्ली में किसी को कोई भी बीमारी हो, आपको पैसे की चिंता नहीं करनी है। आपको खांसी से लेकर बड़ी सर्जरी तक 70-80 लाख रुपए आयेगा तो भी दिल्ली सरकार आपका सारा इलाज मुफ्त में कराती है। आज हम जो प्रयोग करने जा रहे हैं, इससे हम चाहते हैं कि लोग बीमार ही न हों। लोग बीमार क्यों हों, बीमार होते हैं, तभी तो अस्पताल जाना पड़ेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि योग भारत की देन है। पूरी दुनिया को भारत ने योग सिखाया और भारत की देन है कि अब पूरी दुनिया में बहुत सारे लोग योग करने लगे हैं, लेकिन हम अपने देश में आम जिंदगी में जीते हुए योग नहीं करते। योग से आत्मा, मन और शरीर सब स्वस्थ्य रहते हैं। आज की आपा-धापी में जिंदगी बहुत तनावपूर्ण हो गई। हम देखते हैं कि कैसे सड़क पर लड़ाई हो जाती है। थोड़ा सा स्कूटर कार से टकरा गया, तो लोग लड़ पड़ते हैं। मन के अंदर शांति नहीं है। आदमी अंदर से बहुत ज्यादा बेचैन है। अस्वस्थ्य है। आदमी का शरीर भी स्वस्थ्य नहीं है, मन भी स्वस्थ्य नहीं है और आत्मा भी स्वस्थ्य नहीं है। ऐसे में योग बड़ी मदद कर सकता है। ऐसा नहीं है कि कल से योग क्लास शुरू होगी और परसों से सारे ओर शांति-शांति आ जाएगी, ऐसा नहीं होने वाला है। लेकिन इसकी शुरूआत अवश्य हो जाएगी और धीरे-धीरे समाज में परिवर्तन जरूर दिखाई देगा। मैं समझता हूं कि जब योग क्लासेज शुरू होगी और जो-जो लोग योग क्लास में शामिल होंगे, वे भी अपने जीवन में शांति महसूस करेंगे और उनको बीमारियां कम लगेंगी और जो बीमारियां हैं, वो ठीक होनी चालू हो जाएंगी। मुझे इस बात की बहुत ही खुशी है कि आज यह कार्यक्रम शुरू हो रहा है।

उन्होंने कहा कि लोग योग क्यों नहीं करते हैं? मैंने बहत लोगों से जानना चाहा, तो पता चला कि इसमें सबसे बड़ी दिक्कत यह होती है कि उनको योग सिखाने वाला कोई नहीं है। अगर वे योग सिखाने के लिए कोई शिक्षक रखें, तो यह शिक्षक बहुत महंगे हैं। इसलिए शिक्षक रखने के लिए पैसे नहीं हैं। इसके अलावा, अनुशासन नहीं है। एक-दो दिन योग कर लिया और फिर छोड़ देते हैं। इस सब दिक्कतों को ध्यान में रखते हुए हमने दिल्ली की योगशाला कार्यक्रम शुरू किया। हमने कहा कि योग सिखाने के लिए शिक्षक दिल्ली सरकार देगी। आपको पैसे देने की कोई जरूरत नहीं है। आप 25 लोग इकट्ठे होकर हमें मोबाइल नंबर 9013585858 पर मिस्ड कॉल करो। आप अपने आसपास कोई जगह तलाश लीजिए, जहां आप योग करना चाहते हैं, वहां पर दिल्ली सरकार योग सिखाने के लिए शिक्षक देगी और इसका कोई खर्चा नहीं होगी। मैं समझता हूं कि बड़ी संख्या में लोग इसमें भाग लेंगे। हम लोगों ने इसको इस साल के फरवरी महीने में शुरू किया और बजट पास किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक बने, तो अब दूसरे राज्यों ने भी बनाने शुरू कर दिए। दिल्ली में बिजली फ्री हुई, तो अब दूसरे राज्यों ने भी शुरू कर दिए। दिल्ली ने तीर्थ यात्रा करानी चालू की, तो दूसरे राज्यों ने भी शुरू कर दी। अब मैं यह समझ रहा हूं कि दिल्ली ने योगशाला शुरू कर दी है तो पूरे देश के अंदर भी इसे देखकर योग शालाएं जरूर शुरू होंगी और योग लोगों के घर-घर तक पहुंचेगा। पूरी दिल्ली के लोगों से अपील करना चाहता हूं कि अब आपको मौका मिला है। आपको कुछ नहीं करना है, बस एक मिस्ड कॉल करनी है और यह सुनिश्चित करनी है कि रोज सुबह उठकर योग की क्लास में जरूर पहुंच जाएं। मुझे लगता है कि एक क्लास में 25 लोग होंगे, तो उन पर एक-दूूसरे का दवाब होगा और सब लोग इस दबाव से योग कर लेते हैं। इस योग कार्यक्रम में सभी लोग भाग लें। मेरी प्रभु से कामना है कि सभी दिल्ली वाले स्वस्थ्य रहें, खुश रहें।


वार्ता

Top