एक और BJP विधायक के इस्तीफे का पत्र वायरल-बोले विधायक

एक और BJP विधायक के इस्तीफे का पत्र वायरल-बोले विधायक

हाथरस। विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी के भीतर मची बाहर जाने वालों की भगदड़ के बीच अब एक और विधायक के इस्तीफे का पत्र सोशल मीडिया के ऊपर तेजी के साथ वायरल हो रहा है। हंगामा मचने के बाद सामने आते हुए विधायक ने इस इस्तीफे के पत्र को फर्जी करार दे दिया है।

शुक्रवार को एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी के हाथरस की सदर विधानसभा सीट से विधायक के इस्तीफे का पत्र तेजी के साथ सोशल मीडिया के ऊपर इधर से उधर वायरल हो रहा है। विधायक के इस्तीफे के पत्र के वायरल होने के बाद मजे हंगामे के उपरांत सामने आए विधायक ने वायरल हो रहे अपने इस्तीफे के पत्र को फर्जी करार दे दिया है। वायरल हो रहे इस्तीफे के पत्र के भीतर कहा गया है कि भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश सरकार द्वारा अपने पांच साल के कार्यकाल के दौरान ब्राह्मण, दलित, पिछड़ा समुदाय के नेताओं व जनप्रतिनिधियों को कोई तवज्जो नहीं दी गई है और ना ही उन्हें उचित सम्मान दिया गया है। इसके अलावा प्रदेश सरकार द्वारा दलित, पिछड़े, किसान, नौजवानों, छोटे-लघु व मध्यम श्रेणी के व्यापारियों की उपेक्षा की गई है। प्रदेश सरकार की कूटनीति रवैए के कारण में भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूं।

पत्र के वायरल होने की खबर जब विधायक हरिशंकर माहौर को मिली तो वे हैरत में पड़ गए। वहीं, उनके करीबी इस पत्र के वायरल होने की जानकारी मिलने पर उनके आवास पर एकत्र हो गए। विधायक हरिशंकर माहौर ने इस पत्र को फर्जी बताया है। उन्होंने कहा कि इस पर मेरे साइन नहीं है। पार्टी और मेरी छवि धूमिल करने के लिए ऐसा किया गया है। विधायक ने कहा कि लोग इतने नीचे गिर सकते हैं, मैं सोच भी नहीं सकता हूं। उन्होंने बताया की पुलिस अधीक्षक से बात हुई है कल एफआईआर दर्ज करूंगा। उसकी जांच होगी, दोषी के खिलाफ कार्रवाई होगी।



Top