पीड़ित के साथ सुशील व्यवहार कर जनता का दिल जीत रहे SHO

पीड़ित के साथ सुशील व्यवहार कर जनता का दिल जीत रहे SHO

मुजफ्फरनगर। हर अफसर अपने काम को लेकर जाना जाता है। जब अफसर द्वारा सुपीरियर कार्य किया जाता है तो उसकी जनता में तारीफ की जाती है। कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, चाहे उनके पास पद कितना ही बड़ा हो या कितना ही छोटा लेकिन आमजन के साथ व्यवहार उनका कुशल ही रहता है। एक ऐसे ही इंस्पेक्टर थाना नई मंडी पर तैनात हैं, जिनका नाम है सुशील सैनी। थाना नई मंडी के एसएचओ का कार्यभार संभाल रहे इंस्पेक्टर सुशील सैनी अपने कुशल व्यवहार और जनता को त्वरित न्याय दिलाने के लिये जाने जाते हैं।

अगर कोई भी व्यक्ति अपनी फरियाद लेकर थाने आता है तो वह सोचता होगा पता नहीं कैसा अधिकारी होगा उसकी बात सुनेगा भी या नहीं। लेकिन जब एसएचओ के दफ्तर में जाते हैं तो उसे एसएचओ की आवाज सुनाई देती है कि बैठिये, बताईये क्या बात है। फिर उसकी बात तसल्लीपूर्वक सुनते हैं और उसके द्वारा दिये गये प्रार्थना पत्र को ध्यान से पढ़कर उसकी पूरी जानकारी करने के बाद फरियादी के सामने ही पहले उस प्रार्थना पत्र को सम्बंधित चौकी इंचार्ज को व्हाट्सअप कर दिया जाता है। उसके बाद एचएचओ द्वारा सम्बंधित को कॉल कर उसे पूरे मामले से अवगत करा दिया जाता। जल्द से जल्द पीड़ित की समस्या के समाधान के लिये अधीनस्थों को आदेश दे दिये जाते हैं।

एचएचओ द्वारा किये गये व्यवहार को देखकर फरियादी अपनी समस्या बताते हुए अपनापन-सा महसूस करता है और जब अफसर द्वारा उसके सामने ही तुरंत इंसाफ दिलाने की बात कही जाती है तो इंसाफ मिलने की आधी उम्मीद तो पीड़ित को वहीं पर नजर आ जाती है। थाने पर आने वाला शख्स जब अपने घर की ओर लौटता है तो वह इंस्पेक्टर के काम और कुशल व्यवहार की प्रशंसा करने में पीछे नहीं हटता है।

इंस्पेक्टर सुशील सैनी को सहारनपुर से मुजफ्फरनगर तबादला होने के बाद थाना नई मंडी में क्राइम इंस्पेक्टर बनाया गया था। उनके काम करने के तरीके को देखने के बाद एसएसपी अभिषेक यादव द्वारा उन्हें थाना सिखेड़ा का प्रभारी निरीक्षक बना दिया जाता है और इसके बाद उन्हें थाना मंसूरपुर का जिम्मा दिया गया। अब मंसूरपुर से सुशील सैनी का तबादला कर उन्हें थाना नई मंडी का एसएचओ बनाया गया। इंस्पेक्टर सुशील सैनी ने थाना नई मंडी पर आकर 23 जून 2022 को आकर चार्ज संभाला।

मिली जानकारी के अनुसार एक महिला ने थाने पहुंचकर थाना नई मंडी प्रभारी निरीक्षक सुशील सैनी को बताया कि उसका पति किसी बात से नाराज होकर काम का बहाना बनाकर घर से चला गया लेकिन वह वापस नहीं लौटा। इसके बाद पुलिस ने महिला से नंबर लेकर कॉल डिटेल निकलवाई और अल्प समय में ही थाना बरला के कुरलकी गांव से महिला को उसके पति से मिलवाया। पुलिस द्वारा की गई मदद के बाद महिला ने मिठाई का डिब्बा लेकर थाने पहुंची और सभी का धन्यवाद अदा करते हुए उन्हें मिठाई खिलाई। इसको लेकर महिला का कहना है कि जब वह थाने गई तो पुलिस वालों का व्यवहार काफी अच्छा था और उन्होंने तुंरत महिला की मदद कराई।

एसएचओ सुशील सैनी का कहना है कि वह पुलिस में इसलिये आये हैं कि वह जनसेवा कर सकें। उनका कहना है कि पीड़ित थाने में इंसाफ मिलने की उम्मीद लेकर आती है अगर हमारे माध्यम से उसे इंसाफ मिल जाता है तो दिल को बहुत सुकून मिलता है। सुशील सैनी द्वारा कहा गया है कि भयमुक्त, अपराध पर अंकुश, पीड़ित को त्वरित न्याय और महिलाओं को विशेष सुरक्षा के साथ-साथ इलाके में शांति व्यवस्था को लेकर कार्य कर रहे हैं।

सुशील सैनी ने खोजी न्यूज के माध्यम से संदेश देते हुए कहा है कि अपराध एक बहुत बुरी चीज है। इससे सभी बचकर रहें। अगर कोई भी व्यक्ति अपराध करेगा तो उसका अंजाम फिर जेल ही होगा। उन्होंने कहा कि आजकल के जो युवा नशे की ओर जा रहे हैं उन्हें उस पटरी से उतरकर अपने भविष्य को संवारने की पटरी पर चढ़ना चाहिए।

Top