आई पियक्कडों की मुसीबत- इस गांव में पी शराब तो देना होगा इतना जुर्माना

आई पियक्कडों की मुसीबत- इस गांव में पी शराब तो देना होगा इतना जुर्माना

सहारनपुर। नशाखोरी व अन्य सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ बुलाई गई पंचायत की ओर से काफी देर तक विचार-विमर्श करने के बाद फरमान सुनाया गया है कि अगर बंदाहेडी गांव में किसी भी ग्रामीण द्वारा शराब का सेवन किया गया तो उसे 11000 रूपये का जुर्माना अदा करना पड़ेगा। इतना ही नहीं कानफोडू आवाज के साथ डीजे बजाते हुए हुड़दंग करने वालों के खिलाफ भी सख्ती बरती जाएगी। पंचायत की ओर से समाज सुधार के कई अन्य फैसले भी लिए गए हैं। फिजूल खर्चाे को रोकने के लिए भी पंचायत ने लोगों के लिए कुछ नियम लागू किये है।


दरअसल जनपद के कस्बा अंबेहटा क्षेत्र के गांव बंदाहेडी में समाज सुधार के लिए ग्रामीणों की एक पंचायत बुलाई गई थी। पंचायत में शामिल हुए सदस्यों ने गांव में समाज के बीच दुश्वारियां खड़ी करने वाली अनेक कुरीतियों के खिलाफ कड़े फैसले लिए। पंचायत की ओर से नशाखोरी के खिलाफ एक महत्वपूर्ण फरमान सुनाते हुए कहा गया है कि गांव में यदि किसी ने भी शराब पी तो उसके ऊपर 11 हजार रुपये का जुर्माना लगेगा। इतना ही नहीं तेज आवाज में डीजे बजाने और हुड़दंग करने वालों पर भी सख्ती की जाएगी।


दरअसल नकुड़ थाना क्षेत्र के कस्बा अम्बेहटा क्षेत्र के गांव बंदा खेड़ी में ग्रामीण पिछले लंबे समय से नशाखोरी कुरीतियों और फिजूलखर्ची पर अंकुश लगाने की मांग कर रहे थे। इसी को लेकर गांव में पंचायत बुलाई गई। पंचायत ने तय किया कि बधाई लेने के लिए अगर किन्नर दहलीज पर आते हैं तो उन्हें 500 या फिर 1100 रुपये ही दिए जाएं। अगर अब गांव में कोई भी व्यक्ति शराब पीता है तो उस पर 11 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। अगर कोई तेज आवाज में डीजे बजाता है तो उस पर भी सख्ती रहेगी। ऐसा करने पर कार्रवाई होगी।

Top