पुलिस - पब्लिक के बीच घट रही दूरी - बंट रहे विजिटिंग कार्ड और स्टीकर

पुलिस - पब्लिक के बीच घट रही दूरी - बंट रहे विजिटिंग कार्ड और स्टीकर

मुरादाबाद। पुलिस और पब्लिक के बीच अक्सर दूरी देखने को मिलती है। कुछ पुलिसकर्मियों के आचरण से दूरियां और भी बढ़ जाती है, लेकिन मुरादाबाद में पुलिस अब पब्लिक के बीच जाकर, जहां दूरी मिटाने की कोशिश कर रही है, वहीं पुलिस विभाग की योजनाओं को आम लोगों तक पहुंचाने के लिए विजिटिंग कार्ड बांट रही है और स्टीकर लगाने का काम कर रही है। क्या है मुरादाबाद पुलिस की यह पहल। पढ़िए खोजी न्यूज़ की स्पेशल स्टोरी .....


एक तरफ मुरादाबाद के एसएसपी बबलू कुमार जनपद की पुलिस को डिजिटल बनाने में जुटे हुए हैं, वहीं वह पुलिस और पब्लिक के बीच बने कम्युनिकेशन गैप को खत्म करना चाहते हैं। यही वजह है कि उन्होंने नववर्ष के मौके पर मुरादाबाद जनपद के जनप्रतिनिधि, समाजसेवी, डॉक्टर और उद्योगपतियों को हैप्पी न्यू ईयर का कार्ड भिजवाया था। उस कार्ड पर उन्होंने पुलिस से संबंधित सभी योजनाओं एवं हेल्पलाइन नंबरों को प्रकाशित कराया था। इनका मकसद था कि जनपद के प्रतिष्ठित लोगों के पास पुलिस विभाग से जुड़ी हुई जानकारी उपलब्ध हो तथा पुलिस और उनके बीच की दूरी कम हो।

इसी कड़ी में एसएसपी बबलू कुमार ने 30,000 विजिटिंग कार्ड और स्टीकर छपवाये हैं। विजिटिंग कार्ड और स्पीकर पर उन्होंने MAY I HELP YOU MORADABAD POLICE लिखवाते हुए डायल 112, वीमेन पावर लाइन 1090, साइबर हेल्पलाइन 155260, व्हाट्सएप नंबर 9368332927 के साथ-साथ महत्त्वपूर्ण मोबाइल नंबर साइबर सेल 9454401742, मुरादाबाद कंट्रोल रूम का नंबर 7839857245, फायर सर्विस का टोल फ्री नंबर 101, एंबुलेंस का टोल फ्री नंबर 108 व महिला हेल्पलाइन का टोल फ्री नंबर 181 प्रकाशित किया हुआ है।


इसके साथ ही एसएसपी बबलू कुमार ने इस स्टीकर पर मुरादाबाद पुलिस की वेबसाइट ( www.uppolice@gov.in ) मुरादाबाद पुलिस की ईमेल आईडी ( sspmdd-up@nic.in ) एसएसपी मुरादाबाद की लोकेशन ( SSP Office, moradabad ) एवं मुरादाबाद पुलिस के यूट्यूब चैनल ( moradabadpolice )के साथ-साथ मुरादाबाद पुलिस की टि्वटर आईडी ( twitter@moradabadpolice ) एवं फेसबुक आईडी ( facebook@moradabadpolice-up )को प्रकाशित किया हुआ है।

इसके साथ ही सीएम हेल्पलाइन का नंबर 1076 एवं चाइल्ड हेल्पलाइन का नंबर 1098 भी छपा हुआ है। उन्होंने इस स्टीकर एवं विजिटिंग कार्ड पर एक क्यूआर कोड भी लगाया है। जिसको स्कैन करने के बाद आम व्यक्ति मुरादाबाद पुलिस की वेबसाइट पर जाकर मुरादाबाद पुलिस की कार्यशैली एवं कार्य योजनाओं को जान सकता है ।

एसएसपी बबलू कुमार का कहना है कि विजिटिंग कार्ड आम लोगों में बांटने का मकसद है कि वह विजिटिंग कार्ड को अपने पर्स / जेब में रख सकता है। कभी उसे किसी इमरजेंसी के कारण पुलिस से संपर्क करना हो तो वह उस विजिटिंग कार्ड को निकाल कर संबंधित नंबर पर अपनी समस्या कॉल करके बता सकता है। इसके साथ ही स्टीकर इस उद्देश्य से छपवाए गए हैं, ताकि इनको जनपद की बसों, ऑटो रिक्शा, ई-रिक्शा के साथ-साथ गली मौहल्लों एवं सार्वजनिक स्थानों पर चिपकाया जा रहा है। कभी अगर किसी भी व्यक्ति को कोई समस्या होती है तो इस स्टीकर पर दिए गए संबंधित हेल्पलाइन नंबरों पर वह तत्काल सूचना दर्ज करा कर सकता है।

Top