बंदर की गिरफ्तारी का विरोध- पुलिस पर किया पथराव- ऐसे बची जान

बंदर की गिरफ्तारी का विरोध- पुलिस पर किया पथराव- ऐसे बची जान

मुजफ्फरनगर। थाना क्षेत्र के हिस्ट्रीशीटर की गिरफ्तारी करने के लिए पहुंची पुलिस का परिवार के लोगों द्वारा जमकर विरोध किया गया। जैसे ही पुलिस ने वांछित चल रहे हिस्ट्रीशीटर को गिरफ्तार करने के बाद अपनी गाड़ी में डाला तो लोगों ने विरोध करते हुए पुलिस टीम के ऊपर पथराव कर दिया। जिससे मौके पर भगदड़ मच गई और पुलिस की गाड़ी के शीशे टूट गए। बाद में सीओ के नेतृत्व में कई थानों की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर डंडे फटकार कर विरोध कर रही भीड़ को दौड़ाया और विरोध के बावजूद आरोपी को पकड़कर थाने ले आई।

जनपद मुजफ्फरनगर के शाहपुर थाना क्षेत्र के गांव कसेरवा निवासी दर्जनों मुकदमों से सुसज्जित हिस्ट्रीशीटर एवं गैंगस्टर अरशद उर्फ बंदर की गिरफ्तारी करने के लिए पुलिस न्यायालय की ओर से जारी किए गए वारंट के आधार पर पहुंची थी। गांव में पहुंची पुलिस ने जैसे ही गैंगस्टर अरशद उर्फ बंदर को पकड़कर गाड़ी में डाला वैसे ही शोर शराबा कर परिवार के लोगों ने गांव के अन्य लोगों को इकट्ठा कर लिया और बंदर की गिरफ्तारी का विरोध करते हुए पुलिस टीम के ऊपर पथराव कर दिया। जिससे मौके पर भगदड़ मच गई और पुलिस की गाड़ी भी पथराव की चपेट में आ गई जिससे गाड़ी के शीशे टूट गए। पुलिस किसी तरह बचते बचाते हुए बंदर को लेकर लेकर थाने पहुंची। पुलिस दल के ऊपर पथराव किए जाने की सूचना पर सीओ बुढाना विनय गौतम अपने साथ बुढाना, रतनपुरी व कई अन्य थानों की पुलिस को लेकर शाहपुर पहुंचे और बंदर की गिरफ्तारी का विरोध एवं पथराव करने वालों की तलाश में ताबड़तोड़ दबिशें देनी शुरू कर दी। पुलिस दल के ऊपर हमला किये जाने के संबंध में थाना प्रभारी अभिषेक सिरोही का कहना है कि पुलिस वांछित को पकड़कर चल रही थी, अचानक पीछे से भीड ने पथराव कर दिया। इसका पता लगाया जा रहा है। आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Top