मिला अवैध शराब का जखीरा- तस्करों की करतूत देख पुलिस रह गई भौचक्का

मिला अवैध शराब का जखीरा- तस्करों की करतूत देख पुलिस रह गई भौचक्का

मुजफ्फरनगर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव की ओर से चलाए जा रहे जीरोड्रग्स अभियान के तहत जनपद की थाना तितावी पुलिस ने शराब के भारी जखीरे के साथ दो तस्करों को गिरफ्तार किया है। बोलेरो पिकप के भीतर बरामद हुए शराब के जखीरे को देखकर एकबारगी तो पुलिस की भी आंखें फटी की फटी रह गई। जब शराब तस्करों के बडे कारनामे सुने तो अधिकारी भी दंग रह गए।

बृहस्पतिवार को जनपद के थाना तितावी के थाना अध्यक्ष शामली-मुजफ्फरनगर मार्ग पर गांव लालूखेड़ी चेक पोस्ट पर चेकिंग अभियान चला रहे थे। इसी दौरान मुखबिर के जरिए शराब तस्करों के आने की जानकारी मिली। थाना अध्यक्ष अपनी टीम को अलर्ट मोड पर लाते हुए चेकिंग अभियान में और अधिक चौकसी बरतने में जुट गए। इसी दौरान सामने से शामली की तरफ से आई बोलेरो पिकप गाड़ी को जांच पड़ताल के लिए रोका गया। पुलिस ने जब बोलेरो पिकअप की सघनता के साथ तलाशी ली तो उसके भीतर से 55 पेटी अवैध शराब चंडीगढ़ मार्का बरामद हुई। सभी पेटियों में शराब की बोतलें रखी हुई थी, जिनकी संख्या गिनती में 660 बोतल निकली।

बरामद हुई शराब की कीमत तकरीबन दो लाख 60 हजार रुपया होना बताई गई है। पिकअप के भीतर से बोतल सील करने वाले 155 नकली टैग भी बरामद हुए हैं। पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए अंकुश पुत्र राजेंद्र निवासी गांव सिखेड़ा थाना किला परीक्षितगढ़ मेरठ और धीरज पुत्र कृष्ण पाल निवासी कसेरूखेड़ा थाना लालकुर्ती मेरठ ने बताया कि वह हरियाणा और चंडीगढ़ से शराब की तस्करी करके लाते हैं और बोतल का टैग बदलकर तस्करी करके लाई गई शराब को दिल्ली उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश मार्का में तब्दील कर देते हैं। इसके बाद इस शराब को इन राज्यों में बिक्री के लिये भेज दिया जाता है। पुलिस अभी गिरफ्तार किए गए तस्करों के आपराधिक इतिहास की जानकारी जुटा रही है

Top