एक्शनएड और यूनिसेफ़ द्वारा कंपोजिट स्कूल सरवट के 50 छात्र सम्मानित

एक्शनएड और यूनिसेफ़ द्वारा कंपोजिट स्कूल सरवट के 50 छात्र सम्मानित

मुजफ्फरनगर। मेरा जीवन मेरा अधिकार विषय को लेकर एक्शन एड इंडिया, यूनिसेफ एवं अमर उजाला के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित की गई प्रतियोगिता में शामिल होकर अच्छी पेंटिंग बनाने वाले 50 छात्र-छात्राओं को कंपोजिट विद्यालय सरवट में आयोजित किए गए कार्यक्रम में पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।

बृहस्पतिवार को मुजफ्फरनगर के कंपोजिट विद्यालय सरवट में एक्शनऐड इंडिया, यूनिसेफ एवं अमर उजाला के संयुक्त तत्वाधान में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि खंड शिक्षा अधिकारी ज्योति प्रकाश तिवारी रहे। कार्यकम में 50 बच्चांे को यूनिसेफ़ और एक्शन ऐड़ एसोसिएशन की तरफ से सम्मानित किया गया।


संस्था के जिला समन्वयक कमर इंतखाब ने बताया कि गत माह बाल दिवस के अवसर पर नगर के कंपोजिट विद्यालय सरवट में एक कार्यक्रम का आयोजन मेरा जीवन मेरा अधिकार के अंतर्गत बच्चों की बच्चों से बात विषय पर किया गया था। इसमें 50 बच्चों ने समुदाय, घर स्कूल और राज्य से संबंधित चित्र बनाये थे। इसके अलावा बच्चों ने यह भी बताया कि अगर वह विधायक या गांव के प्रधान बन जाए तो अपने स्कूल, राज्य, समुदाय एवं घर को बेहतर करने के लिए क्या क्या कदम उठाएंगे? जिससे कि एक वह बच्चो के लिए एक बेहतर समाज का निर्माण में अपनी भूमिका निभा सके। आज प्रतियोगिता में शामिल सभी बच्चों को सम्मानित किया गया है।


प्रतियोगिता में पूरे उत्तर प्रदेश में सबसे अच्छी पैंटिंग को यूनिसेफ द्वारा पुरस्कृत भी किया है। जिसमें विद्यालय की कक्षा 8 की छात्रा कुमारी शाज़िया को उनकी बेहतर पेंटिंग के लिए पुरुस्कृत किया गया। 20 नवंबर को राज्य शिक्षा मंत्री और यूनिसेफ द्वारा सभी जिलों के प्रतिभागियों को सम्मानित करते हुए कार्यक्रम का लखनऊ में समापन हुआ।

इस मौके पर खंड शिक्षा अधिकारी जेपी तिवारी ने कहा कि इस तरह की चित्रकला प्रतियोगिता बच्चों के सर्वांगीण विकास में सहायक होती है। यह प्रसन्नता की बात है कि यूनिसेफ और एक्शन ऐड़ ने हमारे स्कूल में कार्यक्रम किया। इन सभी छात्रों को सम्मानित किया गया है, जो हमारे स्कूल लिए गर्व की बात है। मैं सभी बच्चों के बेहतर भविष्य और उनसे नित नए कार्याे को करने कामना करता हूं। निरंतर हर तरह की प्रतियोगिता में बच्चे प्रतिभाग करते रहें।

ह्यूमैनिटी वेलफेयर सोसाइटी के शाहवेज़ ने सभी अतिथियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि सरकारी स्कूलों में एक्स्ट्रा एक्टिविटीज़ बहुत ज़रूरी है। इससे छात्र प्रोत्साहित होते है। साथ ही उन्हें कुछ नया भी करने और सीखने को मिलता है। कार्यकम का संचालन प्राधानाध्यपक दिलशाद अहमद ने किया।

कार्यक्रम में नीलम भटनागर, शिदा हुसैन, कोपीन कुमार, वार्ड सभासद, अध्यापक , एसएमसी सदस्य एवं अभिभावक उपस्थित रहे।

Top