शिया धर्मगुरू ज़की बाक़री (कनाडा) ने सादात हाॅस्टिल में मजलिस को किया खि़ताब

शिया धर्मगुरू ज़की बाक़री (कनाडा) ने सादात हाॅस्टिल में मजलिस को किया खि़ताब

मुजफ्फरनगर शिया धर्मगुरू जनाब मौहम्मद ज़की बाक़री (कनाडा) ने सादात हाॅस्टिल कैम्पस, आर्य समाज रोड मुज़फ्फरनगर मे मौहम्मद महदी मरहूम इब्ने मौहम्मद जमील मरहूम सैदपुरा कलां के इसाले सवाब की मजलिस को खि़ताब किया ।





शिया धर्मगुरू जनाब मौहम्मद ज़की बाक़री (कनाडा) ने मजलिस मे आये लोगो को सम्बोधित करते हुए कहा दीन मौहब्बत बांटने का नाम है ना कि नफ़तर बांटने का मुस्लिम अगर सच के रास्ते पर चलकर खुदा को समझ ले और हिन्दु भगवान के बताये हुए सच्चे और सही रास्ते पर चले तो मुल्क मे किसी प्रकार का कोई फिसाद ही पैदा ना होगा। शिया धर्मगुरू ने मजलिस को खि़ताब करते हुए कहा कि जैसे अमल आप दुनिया मे रहकर करोगे उसकी ऐसी ही जज़ा मरने के बाद अल्लाह आपको देगा अगर अच्छे कार्य करोगे तो अच्छी जज़ा (ईनाम) मिलेगा, बुरे कार्य करोगे तो उसकी ऐसी ही सज़ा मिलेगी। इसलिए दुनिया मे रहकर किसी भी इन्सान को दुख मत देना, किसी का माल मत हड़पना, किसी को सताना नही। अच्छा इन्सान वो ही होता है जो दूसरो का अच्छा सोचता है। शिया धर्मगुरू ने बताया कि दुनिया मे ना कोई हिन्दू है और ना कोई मुसलमान है यहाँ सब इन्सान है अगर आप इन्सान बन गये तो आपको हर कोई इन्सान नज़र आयेगा। हैवान बनने की कौशिश मत करो। इसलिए अल्लाह की इबादत करो और उसका शुक्र अदा करो कि उसने तुम्हे ऐसा इन्सान बनाया कि आप अपने घर, मौहल्ले, गांव और देश के लोगो को अपना समझकर उनके साथ अच्छा सलूक करो।


मजलिस मे मुख्य रूप से सईदुज्जमा पूर्व एमपी, राव अब्दुल वारिस पूर्व एमएलए, शलभ कौशिक एडवोकेट, शहनाज आलम प्रधान बिहारी, शमीम हैदर, मौहम्मद अफरोज पूर्व प्रधान सन्धावली, रौनक अली जैदी एडवोकेट, जै़गम मियां जै़दी एडवोकेट, नईम हैदर एडवोकेट, कौसर जै़दी एडवोकेट, असगर मेहदी एडवोकेट, जिल्ले हैदर पूर्व प्रमुख चरथावल, शहज़ाद हसन, आबिद अब्बास भिक्की, अनवर अली डेजी, खुर्रम जै़दी, शहजाद नबी, वसीम हैदर, मौ नबी, मौौ रज़ा, नसीम अब्बास, वज़ीर हैदर, नसीम हैदर एडवोकेट, लियाकत अली, नादिर अब्बास सिक्रेट्री अन्जुमन तरक्की तालीम सादात बाहरा मुज़फ्फरनगर , मौलाना बाकर काज़मी, मौलाना अरशद काज़मी, हसीन हैदर एडवोकेट आदि आस पास के गावों से आये सैकड़ो लोगो ने हिस्सा लिया।

epmty
epmty
Top