आज ही के दिन मनाया जाता है संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस

आज ही के दिन मनाया जाता है संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस

संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस विश्वभर में सभी सरकारी कर्मचारियों के अमूल्य योगदान को चिह्नित करने और एक बेहतर दुनिया बनाने के प्रशासकीय प्रयास के लिए पहली बार 23 जून 2013 को मनाया गया था। वर्ष 2002 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 23 जून को संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी। यह तारिख उस दिन की ऐनिवर्सरी की भी प्रतीक है, जो अंतरराष्ट्रिय श्रम संगठन ने श्रम संबंधों की क्लेक्शन को अपनाया था। यह क्लेक्शन दुनिया भर के सभी कार्य स्थितियों को निर्धारित करने के लिए रुपरेखा है।

यह दिवस सभी सरकारी कर्मचारियों के अमूल्य योगदान को चिह्नित करने और एक बेहतर दुनिया बनाने के प्रशासकीय प्रयास के लिए हर वर्ष मनाया जाता है। इस दिन उन लोगों को सम्मानित किया जाता है, जो मानवता की सेवा की जिम्मेदारी स्वीकार करते हैं और जनता की सेवा संस्थानों में उत्कृष्टता और नवाचार के लिए योगदान करते हैं। प्रत्येक वर्ष इस दिन संयुक्त राष्ट्र जनसेवा पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं। संयुक्त राष्ट्र प्रतिवर्ष अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले संस्थानों को इस पुरस्कार से सम्मानित करता है।

पहला संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा फोरम दिन और अवार्ड सेरेमनी किंगडम ऑफ बहरीन के मनामा में 24 से 27 जून 2013 तक आयोजित किया गया था। सयुक्त राष्ट्र के तत्कालीन महासचिव बान की-मून ने कहा था कि लोकसेवा दिवस के वार्षिक आयोजन पर हम हम उन लोगों का सम्मान करते हैं जो मानवता के सेवा का उत्तरदायित्व स्वीकार करते हैं और जो लोक सेवा संस्थानों में उत्तम सेवा और नए पहल हेतु योगदान देते हैं।

संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा दिवस का उद्देश्य समुदाय के लोक सेवा के मूल्य और पुण्य का समारोह मनाना है। यह विकास प्रक्रिया में सार्वजनिक सेवा के योगदान और सरकारी कर्मचारियों के कार्य को दर्शाता है। यह दिवस युवाओं को लोक क्षेत्र में कैरियर बनाने के लिए प्रोत्साहित करता है। संयुक्त राष्ट्र इस दिन संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा अवार्ड प्रदान करता है। यह पुरस्कार लोक सेवा में उत्कृष्ट पहचान के लिए दिए जाने वाला अंतरराष्ट्रीय स्तर का सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार हैं।

भारतीय लोक सेवा दिवस 21 अप्रैल को मनाया जाता है। इसी दिन सरदार वल्लभभाई पटेल ने स्वतंत्र भारत के प्रथम लोक सेवा सत्र को मेटकाफ हाउस में संबोधित किया था, जहां उन्होंने लोक सेवकों को स्टील फ्रेम ऑफ इंडिया कहकर सम्मानित किया था। इस दिन अखिल भारतीय सेवाओं के विभिन्न अधिकारियों को उनकी सर्वश्रेष्ठ सेवा के हेतु पुरस्कृत किया जाता है। यह अधिकारियों में बेहतर प्रदर्शन को अपने व्यवहार में लाने के साथ ही आने वाली नई चुनौतियों को निपटने के लिए अपनी कार्य क्षमता को बढ़ाने तथा सुधारने एवं विभिन्न नीतियों पर चर्चा कर मनन करने का अवसर मिलता है।

Top