65 वर्ष की उम्र में भारतीय महिला ने स्थापित किया कीर्तिमान

65 वर्ष की उम्र में भारतीय महिला ने स्थापित किया कीर्तिमान

श्रीनगर। 80 वर्ष के पुरूष और 65 वर्ष की महिला ने बच्ची को जन्म देकर खुशियां बटोरते हुए जाने-अनजाने में एक खिताब बना दिया। 65 वर्षीय इस महिला को अब विश्व की सबसे अधिक उम्र में मां बनने वाली महिला माना जा रहा है। दंपत्ति के पहले से ही एक दस साल का बेटा है।

कश्मीर से एक अजीबो-गरीब खबर आई है एक 65 वर्षीय महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया है। बच्ची के 80 वर्षीय पिता ने इसे ऊपर वाले का एक अनमोल उपहार बताया है। जम्मू कश्मीर के पुन्छ जिले के एक अस्पताल में 65 वर्षीया महिला ने बेटी को जन्म दिया है। महिला और बच्ची दोनों स्वस्थ है।


रिपोर्ट के अनुसार इस दंपत्ति का पहले से ही एक दस साल का बेटा है। प्रसव पीड़ा की शिकायत के बाद महिला को बुधवार की सुबह पुंछ के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दोपहर बाद उसने अपने दूसरे बच्चे को जन्म दिया। बच्ची के 80 वर्षीय पिता हकीमदीन ने अल्लाह का शुक्रिया अदा करते हुए सरकार से अपील की है कि उसके परिवार को अब बच्चे को खिलाने और पालने में मदद की जरूरत होगी। आमतौर पर भारत में रजोनिवृत्ति 47 वर्ष की आयु में औसतन समाप्त हो जाती है। एक बार जब यह समाप्त हो जाती है तो बाद में संतति की कोई संभावना नहीं होती। लेकिन कश्मीर में हुआ यह दुर्लभ मामला है।


कश्मीर की एक प्रसूति विशेषज्ञ ने बताया कि जो महिलाएं 50 वर्ष की आयु के बाद जन्म देती है, वह आईवीएफ प्रक्रियाओं के माध्यम से ही ऐसा कर पाती हैं। यदि 65 वर्ष की उम्र में बच्ची को जन्म देने वाली मां के दावे सही हैं तो वह आधिकारिक रूप से दुनिया की सबसे बूढ़ी मां बन जायेगी। जिसने संस्थागत प्रसव से शिशु को जन्म दिया है। वर्तमान में दुनिया में सबसे अधिक उम्र की मां स्पेन की मारिया डेल कारमेन बुसाडा डी लारा है। उन्होंने आईवीएफ उपचार के माध्यम से 66 साल की उम्र में जुड़वा बच्चे को जन्म दिया था।

Top