थाने में भी सुरक्षित नहीं महिलाएं, सिपाही से छेड़छाड़, रेप की कोशिश

थाने में भी सुरक्षित नहीं महिलाएं, सिपाही से छेड़छाड़, रेप की कोशिश

नई दिल्ली। थाने के मुंशी ने पूरे पुलिस विभाग को शर्मसार करने वाली हरकत को अंजाम देते हुए महिला सिपाही के साथ गलत तरह से हदकते करते हुए छेड़खानी की और उसके साथ रेप का प्रयास किया। महिला सिपाही ने जब मुंशी की हरकतों का विरोध जताया तो उसे एक कमरे में बंद कर दिया। शोर मचाने पर दौडी अन्य महिला पुलिस कर्मियों ने आरोपी मुंशी को पकड़ लिया। महिला सिपाही की शिकायत पर मुकदमा दर्ज करते हुए मुंशी को जेल भेज दिया गया है।

बिहार के खगड़िया जिले के महेशखूंट थाने के मुंशी के भीतर का जब रात के समय शैतान जागा तो उसने थाने में सो रही महिला सिपाही के ऊपर गलत नजर रखते हुए उसके साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी और उसके साथ जोर जबरदस्ती करते हुए रेप की कोशिश करने लगा। महिला सिपाही ने जब आरोपी मुंशी की हरकतों का विरोध किया तो मुंशी ने महिला सिपाही को एक कमरे के भीतर बंद कर दिया। महिला सिपाही के शोर मचाने पर अन्य महिला पुलिस कर्मियों की नींद खुल गई और उन्होंने मामला जानने के बाद आरोपी मुंशी को पकड़ लिया।

बाद में मामला थाना प्रभारी नीरज कुमार के सामने तक पहुंचा तो उन्होंने तुरंत एक्शन लेते हुए मुंशी को हिरासत में ले लिया। महिला सिपाही की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत के बाद आरोपी मुंशी को जेल भेज दिया गया है।

खगड़िया पुलिस अधीक्षक अमितेश कुमार ने बताया है कि संबंधित क्षेत्र के डीएसपी को मामले की जांच कर कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। महिला सिपाही की शिकायत के आधार पर आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए मुंशी को जेल भेज दिया गया है।

थाने के भीतर हुई इस शर्मनाक घटना के बाद अब लोग यह कहने से नहीं चूक रहे हैं कि जब महिलाएं थाने में ही सुरक्षित नहीं है तो बाहर उनकी सुरक्षा की गारंटी क्या है?

Top