शिक्षक बने डीएम ने बच्चों से पूछे सवाल और पढ़ाया नैतिकता का पाठ

शिक्षक बने डीएम ने बच्चों से पूछे सवाल और पढ़ाया नैतिकता का पाठ

बागपत। ग्राम पंचायत सरूरपुर कलां के प्राथमिक विद्यालय नंबर-1 का औचक्क निरीक्षण करने के लिए पहुंचे जिलाधिकारी ने बच्चों को नैतिकता का पाठ पढ़ाया और उनसे सवालों के उत्तर पूछे। बच्चों के उत्तर से गदगद हुए जिलाधिकारी ने छात्र-छात्राओं की पीठ थपथपाई।

बुधवार को जिलाधिकारी राजकमल यादव विकासखंड बागपत क्षेत्र के सरूर कलां गांव में स्थित प्राथमिक विद्यालय नंबर-1 का औचक निरीक्षण करने के लिए पहुंचे। जिलाधिकारी ने सबसे पहले बच्चों से शिक्षक बनकर विभिन्न सवालों के जवाब पूछे। बच्चों के उत्तर से संतुष्ट हुए जिलाधिकारी ने छात्र-छात्राओं की पीठ थपथपाई और प्रधानाध्यापक समेत सभी शिक्षकों को निर्देश दिए कि बच्चों को नैतिक शिक्षा का हर हालत में ज्ञान कराया जाए ताकि यह ज्ञान उन्हें जीवन भर समाज में सबसे आगे रख सके।

इस दौरान जिलाधिकारी ने स्टाफ की उपस्थिति पंजिका देखी, जिसमें विद्यालय के सभी अध्यापक एवं अध्यापिकायें उपस्थित पाई गई। जिलाधिकारी ने कहा कि हमारे जीवन में साफ-सफाई का बड़ा ही महत्व है, इसलिए स्कूल परिसर और कमरों में साफ-सफाई रहनी चाहिए।

विद्यालय के निरीक्षण के बाद जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायत सचिवालय पहुंचकर उसका भी निरीक्षण किया। ग्राम पंचायत सचिवालय में जब कोई कर्मचारी नहीं मिला तो जिलाधिकारी ने इस लापरवाही पर गहरी नाराजगी जताई और संबंधित का जवाब तलब करने के अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देश दिए।

epmty
epmty
Top