उधर कच्चे तेल के दाम में गिरावट तो इधर दिल्ली में पेट्रोल 100 के पार

उधर कच्चे तेल के दाम में गिरावट तो इधर दिल्ली में पेट्रोल 100 के पार

नई दिल्ली। पेट्रोलियम कंपनियों की ओर से कच्चे तेल में बढ़ोतरी का होने का हवाला देते हुए बढ़ाए जा रहे डीजल पेट्रोल के दामों का फंडा देशवासियों के गले नहीं उतर रहा है। क्योंकि आज कच्चे तेल के दामों में गिरावट के बावजूद भी पेट्रोलियम कंपनियों की ओर से डीजल पेट्रोल के दामों में 70 और 80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई है। जिससे एक बार फिर से महंगाई को जोरदार पंख लगने के आसार बन गए हैं।

मंगलवार को एक बार फिर से देश की पेट्रोलियम कंपनियों की ओर से डीजल एवं पेट्रोल के दामों में क्रमशः 70 और 80 पैसे प्रति लीटर का इजाफा किया गया है। पेट्रोल की कीमतों में 80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी किए जाने के बाद अब राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 100 रुपए प्रति लीटर के पार पहुंच गई है। वहीं डीजल की कीमतों में भी मंगलवार को 70 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी कर दिए जाने से माल भाड़े में उछाल आने का अंदेशा उत्पन्न हो गया है।

देश की पेट्रोलियम कंपनियों की ओर से डीजल पेट्रोल के दामों में उन हालातों के बीच बढ़ोतरी की गई है, जब कच्चे तेल के दामों में गिरावट दर्ज की जा रही है। यानी कच्चे तेल के दाम में आ रही गिरावट का लाभ देश की पेट्रोलियम कंपनियां आम जनमानस को देने के लिए तैयार नहीं है। इससे पहले भी पिछले दिनों कच्चे तेल के दाम भारी मात्रा में गिरकर नीचे आ गए थे। उस दौरान भी पेट्रोलियम कंपनियों ने घाटे का रोना रोते हुए कच्चे तेल के दामों में गिरावट का लाभ देशवासियों को नहीं दिया था।

कच्चे तेल के दामों में गिरावट और देश में डीजल पेट्रोल के दामों में बढ़ोतरी का फंडा अब देशवासियों की समझ से बाहर होता जा रहा है।

Top