अब त्रिवेणी ग्रुप की इस शुगर मिल ने भी किया शत प्रतिशत गन्ना भुगतान

अब त्रिवेणी ग्रुप की इस शुगर मिल ने भी किया शत प्रतिशत गन्ना भुगतान

सहारनपुर। त्रिवेणी इंजीनियरिंग ग्रुप की देवबंद स्थित शुगर मिल जनपद की सभी मिलों को पछाड़ते हुए किसानों का भुगतान करने के मामले में अव्वल मुकाम पर पहुंच गई है। त्रिवेणी इंजीनियरिंग ग्रुप की देवबंद चीनी मिल ने पिछले सत्र में खरीदे गये गन्ने का किसानों को पाई पाई का भुगतान कर दिया है। जिसके चलते वह क्षेत्रीय किसानों की कर्जदार नहीं रही है। शुगर मिल ने किसानों को करोडो रुपए का बकाया भुगतान करते हुए कर्जे से शत-प्रतिशत मुक्ति पा ली है। उप गन्ना आयुक्त सहारनपुर डॉ दिनेश्वर मिश्र ने यह जानकारी दी।

जनपद सहारनपुर के देवबंद में स्थित त्रिवेणी इंजीनियरिंग ग्रुप की शुगर मिल किसानों का शत-प्रतिशत भुगतान करते हुए किसानों का बकाया भुगतान करने के मामले में अव्वल स्थान पर पहुंच गई है। गन्ना विभाग के कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ,अपर मुख्य सचिव गन्ना संजय आर भुसरेड्डी के निर्देशन में जिला गन्ना अधिकारी सहारनपुर के प्रयास से त्रिवेणी ग्रुप की देवबंद चीनी मिल पर बकाया किसानों का करोडो रुपए का भुगतान कराने में सफल रहे हैं। देवबंद शुगर मिल ने 513 करोड़ का क्षेत्रीय किसानों को पैराई सत्र वर्ष 2020-21 के दौरान देवबंद चीनी मिल में डाले गए गन्ने का शत प्रतिशत भुगतान कर दिया है। जिसके चलते देवबंद शुगर मिल किसानों की कर्जदार नहीं रही है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशन में कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा अपर मुख्य सचिव गन्ना संजय आर भुसरेड्डी प्रदेश के जिलाधिकारियों व जिला गन्ना अधिकारियों के माध्यम से प्रदेश के गन्ना किसानों को बकाया भुगतान कराने के प्रयासों में लगे हुए हैं। जिसके चलते त्रिवेणी इंजीनियरिंग ग्रुप की चीनी मिलें अपर मुख्य सचिव गन्ना के निर्देशों का पालन करते हुए किसानों का बकाया भुगतान करने में लगी हुई है। शनिवार को ही जनपद मुजफ्फरनगर के खतौली में स्थापित त्रिवेणी शुगर मिल किसानों का शत प्रतिशत भुगतान करते हुए किसानों के बकाया कर्ज दे मुक्ति प्राप्त कर चुकी है। इसके अलावा रविवार को जनपद मुरादाबाद के रानी नांगल स्थित त्रिवेणी इंजीनियरिंग ग्रुप की चीनी मिल किसानों का शत प्रतिशत भुगतान करते हुए अब क्षेत्रीय किसानों की बाकायेदार नहीं रही है।

Top