उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ती हुई समस्याओं का एक मात्र हल पृथक पश्चिम प्रदेश का निर्माण : भगत सिंह वर्मा

उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ती हुई समस्याओं का एक मात्र हल पृथक पश्चिम प्रदेश का निर्माण : भगत सिंह वर्मा

मुजफ्फरनगर आज यहां पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा की बैठक को सम्बोधित करते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश को चार भागों में बांटकर पृथक पश्चिम प्रदेश निर्माण से ही उ0प्र0 के 23 करोड लोगों को राहत मिलेगी। पृथक पश्चिम प्रदेश के निर्माण से पश्चिम उत्तर प्रदेश के 8 करोड़ लोग उन्नति के शिखर पर होंगे।


उत्तर प्रदेश बडा राज्य होने के कारण प्रति व्यक्ति वार्षिक आय में देश में सबसे पीछे हो गया है। उत्तर प्रदेश में प्रति व्यक्ति वार्षिक आय मात्र 48584/- रू है जबकि देश के छोटे राज्य दिल्ली में सबसे अधिक 240849/-रू, गोवा में 224138/- रू, हरियाणा में 2 लाख रू और छोटे नये राज्य उत्तराखण्ड में 151219 रू0 व तेलंगाना में 158360 रू है जबकि पूरे देश में प्रति व्यक्ति वार्षिक आय 103818/- है। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि यदि अलग पश्चिमी उप्र की वार्षिक आय निकाली जाये तो देश में सबसे अधिक कम से कम 3 लाख रू होगी।


भगत सिंह वर्मा ने कहा कि उप्र बडा राज्य होने के कारण विकास, शिक्षा, चिकित्सा, अवागमन, रहन-सहन सभी क्षेत्रों में लगातार पिछडता जा रहा है। केन्द्र भी उप्र की तरफ कोई ध्यान नही देता है। उप्र के विभाजन की मांग आजादी से भी पहली 1925 से उठाई जा रही है, जिसे अब पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा संघर्ष करके पूरा करेगा। उप्र के 75 जिलों 18 मण्डलों, 80 लोकसभा क्षेत्रों 403 विधानसभा क्षेत्रों व 23 करोड जनता की भलाई व उन्नति लखनऊ में बैठकर बडे प्रदेश का मुखिया नहीं कर सकता है। छोटे राज्य के मुखिया से प्रदेश की आम जनता आसानी से मिलकर अपनी समस्या हल करा सकती है। बडा राज्य होने के कारण उप्र में कानून व्यवस्था चौपट हो चुकी है पूरा प्रदेश गरीबी, महंगाई, भ्रष्टाचार, गुण्डागर्दी, अव्यवस्था, लूट-पाट की चौपट में है।


भगतसिंह वर्मा ने कहा कि उप्र में लगातार बढती हुई समस्याओं का एक मात्र हल पृथक पश्चिम प्रदेश का निर्माण ही है। वर्मा ने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शिक्षित बेरोजगार युवाओं को नौकरी नहीं मिल रही है। सभी नौकरियों में पूर्वांचल के लोगों का बोलबाला है जबकि पश्चिम प्रदेश के 26 जिले प्रदेश को 80 प्रतिशत राजस्व देते है।


भगत सिंह वर्मा ने राष्ट्रपति और प्रधान मंत्री को पत्र लिखकर उत्तर प्रदेश को चार भागों में बांटकर पृथक पश्चिम प्रदेश का निर्माण कराने, मेरठ में तत्काल हाईकोर्ट की स्थापना करने, मेरठ में मिनी सचिवालय बनाने, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बडे-बडे उद्योग स्थापित कराने, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विकास के लिए अलग से 50 हजार करोड का पैकेज दिलाने की मांग की। बैठक की अध्यक्षता पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रपति कोषाध्यक्ष राजेन्द्र चौधरी व संचालन प्रदेश महामंत्री आसिम मलिक ने किया।


बैठक को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ एस के काकरान, प्रदेश अध्यक्ष डॉ पहल सिंह सैनी, दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष धीरेन्द्र एडवोकेट, उत्तराखण्ड प्रदेश अध्यक्ष सरकार अर्जुन सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष हाफिज मुर्तजा त्यागी, मण्डल उपाध्यक्ष सरदार गुलविन्दर सिंह बन्टी, नरेश कुमार एडवोकेट, सुभाष त्यागी, डॉ यशपाल त्यागी, छात्र नेता मनीष सिंह, राहुलसिंह, हाजी सुलेमान रियासत पहलवान, रविन्द्र चौधरी प्रधान, रामकुमार नेता, अजीत सिंह एडवोकेट आदि ने सम्बोधित किया।

epmty
epmty
Top