नदियों को साफ और स्वच्छ रखे, गन्दगी न करेे और दूसरों को गन्दगी न करने के लिए प्रेरित करे - डीएम

नदियों को साफ और स्वच्छ रखे, गन्दगी न करेे और दूसरों को गन्दगी न करने के लिए प्रेरित करे - डीएम

मुजफ्फरनगर। डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट सेल्वा कुमारी जे ने आज काली नदी केा अतिक्रमण मुक्त व प्रदूषण मुक्त कराने के उददेश्य से काली नदी के किनारे वाले गावों जिनमें सिम्भालकी, खामपुर, कोल्हाहेडी, बढीवाला, रेई, सादपुर, मलीरा नहर पुल, न्याजुपुरा में नाले का निरीक्षण एवं बेगराजपुर औधोगिक क्षेत्र में बह रहे गन्दे नाले का निरीक्षण कर अधिकारियेां को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होने बेगराजपुर में नाले के पानी का सैम्पल भी भरवाकर उसकी जांच कराये जाने के निर्देश भी दिये। उन्होने कहा कि नदियों के अस्तित्व को बनाये रखने के लिए नियमित रूप से सफाई अभियान चलाया जायेगा। उन्होने कहा कि यह भी सुनिश्चित कराया जायेगा कि नदी में कूडा करकट व मलवा न डाला जाये। उन्होने कहा कि मनुष्य के जीवन के लिए जल अति आवश्यक है और बिना जल के जीवन सम्भव नही है। उन्होने कहा कि हम अपनी नदियों को साफ और स्वच्छ रखे, गन्दा पानी न जाने दे और नदियों के किनारे गन्दगी न करे। उन्होने कहा कि काली नदी में अतिक्रमण एवं प्रदूषण के विभिन्न कारकों की पहचान करके उनकी रोकथाम के उपाय के लिए अभियान चलाया जायेगा और जल संरक्षण हेतु उपाय एवं जनजागरूकता अभियान भी चलाया जायेगा।


डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ने कहा कि नदियां धरती का प्राण मानी जाती है जो हमारे पृथ्वी व समस्त जीव जगत को जिन्दा रखती है। उन्होने कहा कि गम्भीर चिंता का विषय है कि नदियों के जीवन पर संकट मंडरा रहा है। उन्होने कहा कि शहरी नालों की गन्दगी व ओद्यौगिक कचरे को बिना शुद्ध किये नदी में न डाला जाये। उन्होने कहा कि आम जनमानस ने नदियो को सुरक्षित रखने का भाव होना चाहिए और इसके लिए दूसरों को भी प्रेरित एवं जागरूक किये जाने की आवश्यकता है।


डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ने कहा कि नदियों के अस्तित्व और उनके वास्तविक स्वरूप को कायम रखने के लिए जन सहभागिता भी आवश्यक है। उन्होने कहा कि इस पुनीत कार्य में सभी लोग सहयोग करे और अन्य लोगो को भी जागरूक करे कि नदियों को न तो स्वयं गन्दा करे और न ही दूसरो को करने दे। उन्होने जनमानस से अपेक्षा की है कि नदियों के प्रवाह को निर्मल बनाये रखने के लिए उसमें कूडा करकट न डाला जाये और नदियो के किनारे अधिक से अधिक वृक्षारोपण किया जाये।

इस अवसर पर ज्वाईट मजिस्ट्रेट कुलदीप मीणा, एसडीएम सदर विजय कुमार, सिचांई विभाग, जल निगम व प्रदूषण नियन्त्रण विभाग के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

epmty
epmty
Top