मुजफ्फरनगर के थानों में गूंज रहा- HAPPY BIRTH DAY TO YOU

मुजफ्फरनगर। पुलिसकर्मी कभी बदमाशों के पीछे तो कभी धरना प्रदर्शन करने वाले सियासी दलों और समाजसेवियों के आन्दोलन में कोई अनहोनी ना हो जाये, मुस्तैद रहती है। कभी वी.वी.आई.पी., माननीयों के आगमन पर गार्द सलामी देती है। इसी उठा-पटक के बीच पुलिस कर्मियों की जिन्दगी कापहिया परिवार के लिये भी बामुश्किल वक्त निकालकर अपनी खुशियों के लिए घूम पाता है। अगर कभी परिवार में किसी खास मौके पर पुलिसकर्मियों को छुट्टी चाहिये तो बडे़ हुकमरान की कभी कभी डांट भी उनको असहज करदेती है। कानून व्यवस्था के लिए काम करने वाले इन पुलिस कर्मियों की भाग दौड़ भरी जिन्दगी में थकना मना है, का स्लोगन टैग हुआ रहता है, लेकिन उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जनपद में एक आईपीएस अफसर बतौर पुलिस कप्तान पोस्टिंग पर है और अपने मुखिया डीजीपी के एक ग्रीटिंग के बाद फरमान जारी किया कि भागदौड़ भरी नौकरी में सिर्फ थकना मना है, ही वाला स्लोगन पुलिस की लाईफ में टैग नहीं रहेगा, बल्कि जश्न मनाना भी जरूरी है, इसमें शामिल होगा। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वें जन्मदिवस पर जब पूरा देश विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर जश्न मना रहा था तो आईपीएस अभिषेक यादव के थानों में भी जश्न का दौर चल रहा था और वहां गूँज रहा था...HAPPY BIRTH DAY TO YOU!

काम के बोझ और रिजल्ट देने के दबाव में परिवार की दूरी की चिंता के बीच पुलिस कर्मचारियों में बढ़ रहे तनाव को कम करने के लिए मुजफ्फरनगर जनपद के पुलिस कप्तान अभिषेक यादव ने एक अनोखी पहल की है। उनकी इस पहल के सकारात्मक परिणाम सामने आये हैं। दिन रात थानों और चौकियों के साथ ही चौक-चौराहों पर ड्यूटी के लिए तैनात रहने वाले पुलिस कर्मियों में कप्तान की पहल ने कमाल का असर दिखाते हुए उत्साह का संचार किया है। आज जनपद के थानों में HAPPY BIRTH DAY TO YOU! का शोर पूरे हर्ष और उल्लास से गूंज रहा है। पार्टियां हो रही हैं, केक काटे जा रहे हैं और मिठाईयों भी बंट रही हैं। इस पहल के सहारे एसएसपी अभिषेक यादव ने खुद को पुलिसकर्मियों के बीच एक अभिभावक के तौर पर पेश करने का प्रयास किया है।



मुजफ्फरनगर जनपद में अपने तीन माह के अल्प कार्यकाल में ही 2012 बैच के आईपीएस अफसर अभिषेक यादव ने पुलिसिंग की हर कड़ी को दुरुस्त करने का काम किया है। उन्होंने एग्रीसिव पुलिसिंग करते हुए रोहित सांडू की फरारी केस की चुनौती को हाथों हाथ लेकर 14 दिन के भीतर ही रोहित सांडू का साथी सहित एनकाउंटर कर बेहतरीन रिजल्ट देकर पूरे प्रदेश में मेरठ जोन की पुलिस का मान बढ़ाने काम किया, तो वहीं गुड पुलिसिंग करते हुए पुलिस कप्तान अभिषेक यादव ने झूठे आरोप में जेल भेज दिये गये अवर अभियंता को जेल से निकालने के लिए स्वयं आगे आकर कार्रवाई की।

एसएसपी अभिषेक यादव ने पुलिस और पब्लिक के बीच खुद को एक संवेदनशील और जिम्मेदार अभिभावक के तौर पर पेश करने का प्रयास किया है। 2 जुलाई 2019 को जनपद में पुलिस की कमान संभालने वाले एसएसपी अभिषेक यादव ने पब्लिक के बीच जहां कानून का राज होने का विश्वास टूटने नहीं दिया, वहीं उन्होंने पुलिस कर्मियों के बीच भी मनोबल को कायम करने के लिए अनूठे फैसले लिये। उनके एक फैसले की पुलिस विभाग में धूम मची हुई है। दशहरा और दीवाली से पहले ही थानों में जश्न-ए-बहारा का उल्लास नजर आने लगा है। अपने कप्तान के कदम से पुलिस कर्मियों के भी चेहरे खिले हुए हैं। काम और परिणाम के बोझ के तले तनावग्रस्त होती पुलिसिंग में उत्साह का संचार करने के लिए एसएसपी अभिषेक यादव ने थानों में ही वहां तैनात पुलिस कर्मियों का जन्म दिन मनाये जाने का फैसला लिया है। इसकी शुरूआत में कई थानों में जश्न मनाया गया है और नित्य प्रतिदिन थानों के तनावग्रस्त माहौल में दिन व रात HAPPY BIRTH DAY TO YOU! का शोर ही गूंजता दिखायी और सुनाई दे रहा है। इस आयोजन से थानों में तैनात पुलिसकर्मियों का उत्साह भी बढ़ रहा है और खुशियों की सौगात भी मिल रही है।

दरअसल जनपद में इस पहल की शुरूआत खुद आईपीएस अभिषेक यादव को मिली एक खुशी से जुड़ी है। 05 सितम्बर 1987 को हरियाणा राज्य के गुरूग्राम जनपद में एम.एस. यादव के परिवार में जन्म लेने वाले अभिषेक यादव को उनके 32वें जन्म दिवस के अवसर पर बीते माह उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह की ओर से एक बधाई संदेश मिला। HAPPY BIRTH DAY TO YOU! के संदेश के साथ मिले इस एक ग्रीटिंग ने एसएसपी अभिषेक यादव को ना केवल खुशी दी, बल्कि उनके उत्साह को बढ़ाने का भी काम किया। अपने विभाग के मुखिया से मिले इस ग्रीटिंग में प्रोत्साहन के शब्दों से ही एसएसपी अभिषेक यादव को यह आइडिया आया कि यदि वह इसी को आधार बनाकर थानों में भी पुलिस कर्मियों का जन्म दिन मनाये जाने की व्यवस्था करायें तो पुलिसकर्मियों का मनोबल और बढ़ाया जा सकता है, उनको भी तनाव भरे माहौल में खुशी के कुछ पल मिल सकते हैं। इसके बाद ही पुलिस कप्तान ने यह निर्णय लिया कि अब जिले के सभी पुलिस थानों में हर पुलिसकर्मी का जन्मदिन मनाया जाएगा। इस दौरान जन्मदिन पार्टी का आयोजन होगा और खाने-पीने के साथ ही बर्थ डे ब्वाॅय पुलिस कर्मचारी के लिए उपहारों का भी इंतजाम किया जाएगा। इस पार्टी में सीओ और एसपी रैंक का अधिकारी भी प्रोतसाहित करने के लिए उपस्थित रहेगा। इसमें एसएसपी की ओर से पुलिस कर्मियों को बधाई संदेश तो वहीं थाना प्रभारी की ओर से केक उपलब्ध कराया जा रहा है।


कप्तान अभिषेक यादव के फरमान के बाद जनपद के थानों में पुलिस कर्मियों का बर्थ डे मनाया जा रहा है। इसकी शुरूआत बीते 2 अक्टूबर से जिले के नई मण्डी कोतवाली और खतौली कोतवाली में सिपाहियों के जन्म दिन पार्टी से हुई। इसके बाद चरथावल थाने में सीओ सदर कुलदीप कुमार और थाना प्रभारी सूबे सिंह के द्वारा कांस्टेबल वकील बैंसला का जन्म दिन थाना परिसर में पार्टी के आयोजन के साथ मनाया। कप्तान अभिषेक यादव का संदेश सिपाही को मिला तो वह भावुक नजर आया। सिपाही वकील बैंसला ने कहा कि इस पार्टी के आयोजन के कारण उसको पुलिस सर्विस में पहली बार ऐसा लगा कि वह परिवार से दूर नहीं है। कल तो खुद एसएसपी अभिषेक यादव ने बुढ़ाना थाने जाकर सिपाही प्रदीप कुमार को HAPPY BIRTH DAY TO YOU! बोलकर उसके जश्न को उत्साह से लबालब कर दिया। सिपाही प्रदीप को जब अपने बर्थ डे पर पुलिस कप्तान अभिषेक यादव से शुभकामना मिली तो वह थाने के निरिक्षण की तैयारी मैं जुटा हुआ था। सिपाही ने इसे जीवन सबसे अनमोल तोहफा बताया।

बता दें कि पुलिस विभाग में तैनात कर्मचारी अधिकांश अवसरों पर त्यौहारों पर अपने परिवार से दूर रहते हैं, वह कोई त्यौहार नहीं मना पाते हैं। इसके साथ ही ड्यूटी का तनाव भी पुलिस कर्मियों पर हावी हो जाता है। पुलिस कर्मियों को तनाव से दूर करते हुए उनके मनोबल को बढ़ाने के लिए समय समय पर इस तरह के प्रयोग काफी कारगर साबित होते हैं। पूर्व में राज्य में काॅप ऑफ दि मंथ अभियान चलाया गया, जिसने पाॅजिटिव पुलिसिंग को जन्म दिया। अब आईपीएस अभिषेक यादव का बर्थ डे कैम्पेन सराहना बटोर रहा है।

Top