Top

आज से मुज़फ्फरनगर में एफआईआर की फ्री होम डिलीवरी

आज से मुज़फ्फरनगर में  एफआईआर की फ्री होम डिलीवरी

मुज़फ्फरनगर अभी तक पिज़्ज़ा, बर्गर और फ़ूड की होम डिलीवरी आप अक्सर अपने घर और ऑफिस पर पाते रहे होंगे, लेकिन अब कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में लॉकडाउन चालू है, मतलब अब आपको होम डिलीवरी में कोई भी सामान नहीं मिलेगा हाँ अगर आप मुज़फ्फरनगर जनपद में है और लॉकडाउन का उल्लंघन बार बार कर रहे है तो लॉकडाउन में भी आपको फ्री होम डिलीवरी मिल जायेगी। इस होम डिलीवरी में आपका जायका सुधारने के लिए कोई लज़ीज़ व्यंजन नहीं, बल्कि पुलिस आएगी और आपके घर पर प्रथम सूचना रिपोर्ट ( एफआईआर ) की कॉपी फ्री होम डिलीवरी के रूप में चस्पा कर देगी फिर आपको जेल के खट्टे मीठे अनुभवों से गुजरना पड़ सकता है। अगर आपको हवालात की हवा नहीं खानी है तो लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन करें। आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी करनी हो या मेडिकल की आवश्यकता पड़ने पर ही अपने घर से बाहर निकलें , नहीं तो फिर मुज़फ्फरनगर पुलिस की तरफ से लीजिये फ्री होम डिलीवरी ।




कोरोना वायरस के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान के बाद 24 मार्च से पूरा देश इस समय लॉकडाउन है। उत्तर प्रदेश के जनपद मुज़फ्फरनगर में भी पुलिस प्रशासन लॉकडाउन का पालन पूरी तरह से करा रहा है। डीएम सेल्वा कुमारी जे और एसएसपी अभिषेक यादव अपनी अपनी टीम के साथ मिलकर बार बार जनता से अपील कर रहे है मगर कुछ लोग अभी भी लॉकडाउन का उल्लंघन करने से नहीं मान रहे है। सरकार ने आवश्यक वस्तुओं एंव मेडिकल की सुविधा के लिए छूट दे राखी है, मगर कुछ लोग लगातार लॉकडाउन के नियम तोड़ने पर लगे हुए है। ऐसे लोगो से निपटने के लिए मुज़फ्फरनगर के एसएसपी अभिषेक यादव ने अब सख्त रुख अपना लिया है। आज पहले तो वह शहर कोतवाली इलाके के खालापार और किदवईनगर में इंस्पेक्टर अनिल कपरवान, किदवईनगर चौकी इंचार्ज सतीश शर्मा, खालापार इंचार्ज सुनील कुमार शर्मा और पुलिस टीम के साथ पहुंचे और एसएसपी अभिषेक यादव ने माइक हाथ में लिया और शुरू हो गए आपने चित परिचित अंदाज में बोलने।



एसएसपी अभिषेक यादव ने लॉकडाउन का सख्ती से अमल कराने के लिए अल्टीमेटम देते हुए कहा कई दिनों से समझाने के बाद भी कुछ लोग मान नहीं रहे हैं, इसलिए अब जो बाहर मिलेगा ,उसका वीडियो बनाकर एफआईआर दर्ज की जाएगी और उसके घर पर उसे सौंपी जाएगी। यही नहीं जो लोग एफआईआर नहीं लेंगे, उनके घरों पर इसे चस्पा किया जाएगा। एसएसपी अभिषेक यादव ने कहा पुलिस आपके घर पर एफआईआर की होम डिलीवरी करेगी । आपकी हम वीडियो बनाएंगे और फिर दर्ज होगी एफआईआर और वो एफआईआर पुलिस आपके घर में, आपके हाथ में सोशल डिस्टेंसिंग मेनटेन करते हुए देकर जाएगी । अगर आप एफआईआर नहीं लेंगे तो इसे आपके घर के बाहर चस्पा कर दिया जाएगा। जिसने इसे फाड़ा तो दूसरा मुकदमा दर्ज होगा। आप अगर एफआईआर ऐसे ही फाड़ते रहे तो मुकदमे दर्ज होते जाएंगे। मुजफ्फरनगर एसएसपी अभिषेक यादव ने कहा कि गली मोहल्लों के सभी लोग ध्यान दें, आठ दिन हो गए आप सभी लोगों को प्यार से समझाते हुए, बताते हुए कि ये लॉकडाउन आप लोगों की सेहत के लिए है। पूरे देश में लगा हुआ है आप अपने घरों में रहिए, लेकिन आप नहीं मान रहे हैं। पुलिस आती है तो आप घर में घुस जाते हैं, फिर बाहर आ जाते हैं। जैसे हम कोई आपकी जान के दुश्मन हैं । हम चौबीस घंटे क्यों घूम रहे हैं? इसीलिए घूम रहे हैं कि पूरे विश्व में कोरोना वायरस की समस्या है। हजारों लोग इससे संक्रमित होकर पूरी दुनिया में मर चुके हैं इसलिए आप लॉकडाउन का पालन कर इससे सुरक्षित रहें ।



एसएसपी अभिषेक यादव का इधर आदेश हुआ उधर शहर कोतवाल अनिल कपरवान अपनी टीम के साथ सक्रिय हो गए और उन्होंने खालापार के गली कुम्हारन निवासी शादाब पुत्र उम्रदराज को गिरफ्तार कर लिया। आरोप लगाया गया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना वायरस को विश्व की आपदा घोषित किया हुआ है । पूरे देश में इसके कारण धारा 144 लगी हुई है जिस कारण केवल आवश्यक वस्तुओं और मेडिकल से सम्बंधित खरीदारी करने पर हो घर से बाहर जाने की छूट है , वो भी मुंह पर मास्क और हाथों में गलब्स लगाकर । इस सम्बन्ध में खालापार पुलिस चौकी के इंचार्ज सुनील कुमार शर्मा ने थाने पर मुकदमा अपराध संख्या 204/ 2020 धारा 269,270 आईपीसी दर्ज कराते हुए लिखाया है कि शादाब लॉकडाउन का बार बार उल्लंघन कर रहा हैखरीदारी जिस समय उसको पकड़ा गया तब भी वह बिना मास्क एंव गलब्स के गली में घूम रहा था। शादाब के इस तरह घूमने से आम जनमानस को कोरोना के संक्रमण के होने का खतरा पैदा हो सकता है।



इसके साथ हो कोतवाली इलाके के ही क़िदवईनगर में सलीम पुत्र शब्बीर को भी गिरफ्तार किया गया । सलीम पर भी आरोप लगाया गया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना वायरस को विश्व की आपदा घोषित किया हुआ है । पूरे देश में इसके कारण धारा 144 लगी हुई है जिस कारण केवल आवश्यक वस्तुओं और मेडिकल से सम्बंधित खरीदारी करने पर हो घर से बाहर जाने की छूट है , वो भी मुंह पर मास्क और हाथों में गलब्स लगाकर । चौकी इंचार्ज सतीश शर्मा ने थाने पर मुकदमा अपराध संख्या 205/ 2020 धारा 269,270 आईपीसी दर्ज कराते हुए लिखाया है कि सलीम लॉकडाउन का बार बार उल्लंघन कर रहा हैखरीदारी जिस समय उसको पकड़ा गया तब भी वह बिना मास्क एंव गलब्स के गली में घूम रहा था। शादाब के इस तरह घूमने से आम जनमानस को कोरोना के संक्रमण के होने का खतरा पैदा हो सकता है।

शादाब व सलीम पर एफआईआर के बाद कोतवाली पुलिस उनके घर पहुंची और उनके घर कर दरवाजे पर एफआईआर की प्रति चस्पा कर सन्देश दिया की जो भी व्यक्ति अब लॉकडाउन का पालन नहीं करेगा अब उस पर मुकदमा दर्ज करने के साथ साथ उसके घर पर एफआईआर कि फ्री होम डिलीवरी कि जाएगी । एफआईआर की इस होम डिलीवरी के बाद हल्के में चर्चा है कि अब घर में रहना हो सुरक्षित है, नहीं तो हवालात की हवा भी खानी पड़ सकती है ।










epmty
epmty
Top