जनप्रतिनिधि-वार्ड को नया रूप देने में जुटे नवनीत

जनप्रतिनिधि-वार्ड को नया रूप देने में जुटे नवनीत

मुजफ्फरनगर। नगर पालिका के जनसंख्या व क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बडे वार्ड के सभासद नवनीत कुच्छल जो अपनी साफ और स्वच्छ छवि के पहचाने जाते है।इनके शांत स्वभाव का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इनको बोर्ड मींटिग मे होने वाले हंगामो से दूर ही देखा जाता है। इनके स्कूल समय से ही संघ की शाखा के कार्यकर्मो मे हिस्सा लेकर देश भक्ति मे सराबोर होना सिख लिया था। बचपन से ही धार्मिक एवं सामाजिक कार्या मे रूचि रखने वाले नवनीत को हमेशा ही गरीब लोगो की सहायता करना अच्छा लगता है।उनके पास कभी भी कोई व्यक्ति सहायता के लिए जाता है वो कभी खाली हाथ नही जाता उनसे जितना होता है आगे बढ़कर लोगो की सहायता करते है ।


वर्ष 2017 के चुनाव मे वार्ड 07 से भाजपा से सभासद का टिकट पाने के लिए लंबी लाईन थी हर कोई अपनी दावेदारी पेश कर रहा था । मगर नवनीत कुच्छल की दावेदारी के सामने भाजपा ने सबको पस्त माना और नवनीत को अपना उम्मीदवार घोषित किया ।नवनीत ने भी अपनी दावेदारी पर खरा उतरते हुए अपने प्रतिद्वंदी कांग्रेस उम्मीदवार अजय गोयल को पराजय देकर जीत हासिल की । जबकि नवनीत का राजनीति से दूर दूर तक भी वास्ता नही था तब की एक घटना का जिक्र उन्होने किया।उन्होने बताया कि 1994 की बात है रात्रि के लगभग 10 बजे का समय था वो और वर्तमान मे भाजपा नेता विजय गुप्ता को जरूरी काम से हरिद्वार जा रहे थे। जब वो बामनहेडी गांव के पास पहुचे तो उन्होने देखा की कुछ व्यक्ति सडक पर बुरी तरह से घायल पडे हुए थे रास्ते से बहुत से लोग आ जा रहे थे पर कोई भी सडक पर घायल पडे उन लोगो की सहायता के लिए तैयार नही था। जब नवनीत एंव उनके साथी ने घायल व्यक्तियो को देखा तो उनसे रहा नही गया उन्हाने तुरन्त घायलो को उठाकर अपनी गाडी से जिला चिकित्सालय मुजफफ्रनगर मे भर्ती कराया।जिस कारण उन घायल व्यक्तियो की जान बच पायी।

विघायक कपिल देव अग्रवाल को अपना आदर्श मानने वाले नवनीत ने बताया की उनका लक्ष्य राजनीति मे पैसा कमाना नही है बल्कि वह चाहते है कि उनके वार्ड का स्वांर्गीण विकास हो जिसके लिए वो प्रतिबद्व भी है। वह चाहते है उनके वार्ड का कोई व्यक्ति ऐसा न हो जिसको सरकारी योजनाओ का लाभ न मिला हो । बिल्डर के रूप मे कार्य करने वाले नवनीत ने बताया की उनके पास ईश्वर का दिया सब कुछ है उनके यहां कभी भी कोई किसी सहायता के लिए आता है वह जिस हद तक होता है उसकी सहायता करते है।


नवनीत ने बताया कि उनके सभासद बनने से पहले उनके वार्ड की आर्यपुरी की सबसे बडी समस्या थी जल भराव। उनसे पहले अनेको सभासद हुए पर आर्यपुरी की जलभराव की समस्या कोई दूर नही कर पाया। जलभराव का तो इतना बुरा आलम था कि,लोग अपने मकान को बेचने के लिए मजबूर थे। हर कोई इस समस्या को लेकर आये दिन परेशान रहते था। बरसात मे लोगो का जीना तक दूभर हो जाता था पूरी काॅलोनी की सडके जल से लबालब हो जाती थी। नवनीत ने कहा कि आर्यपुरी जलभराव की समस्या उनके विकास कार्यो मे प्रमुख थी जिसके लिए उन्होने वार्ड के लोगो से वादा भी किया था कि अगर वो सभासद बने तो इस समस्या का समाधान वो सबसे पहले करेंगे। इसलिए सभासद बनते ही उन्होने विधायक कपिल देव अग्रवाल को इस समस्या से अवगत कराया। आखिरकार विधायक और उनके प्रयास से आर्यपुरी की जलभराव की समस्या से छुटकारा मिल गया । आर्यपुरी मे भरने वाले पानी को अन्डरपास के जरिये आनन्द भवन के रास्ते रूडकी रोड पर छोड दिया गया। इस बार सदिया के बाद वो बरसात भी आयी,बरसात के कारण जल भराव नही हुआ।


इसके अलावा पूरे वार्ड मे सीवर का कार्य पुरा हो चुका है। पूरे वार्ड मे 150 एलईडी लगायी जा चुकी है,अब पूरा वार्ड अंधेरी रात मे जगमगाता रहता है। नवनीत ही ऐसे अकेले सभासद है जिन्होने अपने वार्ड मे एक साथ उज्जवला योजना के तहत 101 गैस कनेक्सन विधायक कपिल देव के हाथो से वितरित कराये थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जल संचय अभियान के लिए वो जागरूकता लाने का भी काम कर रहे है जिसकी शुरूआत वो अपने घर से ही कर चुके है। शिक्षा के क्षेत्र मे वो चाहते है कि कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न रह जाये और इसलिए वो प्रत्येक वर्ष स्कूल चलो अभियान मे अपनी भागीदारी देकर अभियान चलाने के लिए भी विचार कर रहे है।

Top